खडग़पुर। पश्चिम बंगाल के प्रमुख स्कूलों में से एक खडग़पुर स्थित ग्रिफिन्स इंटरनेशनल स्कूल को ब्रिटेन स्थित क्यूएस क्वाक्वेरेली साइमंड्स की भारतीय सहायक कंपनी क्यूएस आई-गेज ने 'इंस्टीट्यूट ऑफ हैप्पीनेस' पुरस्कार से सम्मानित किया है। एक अधिकारी ने सोमवार को यहां कहा कि 100 से अधिक संस्थानों के बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा के बाद इस स्कूल को 'इंस्टीट्यूट ऑफ हैप्पीनेस' का दर्जा दिया गया है। 

यह भी पढ़े : Vaishno Devi bus attack : वैष्णो देवी बस हमले के बाद अमरनाथ यात्रा को लेकर हाई अलर्ट, शाह कर सकते हैं बैठक

एक सौ में से केवल 33 स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालय ही निर्धारित सीमा को पूरा करने में सक्षम हुए थे। क्यूएस आई-गेज ने हाल ही में नयी दिल्ली स्थित इंडिया हैबिटेट सेंटर में आयोजित एक सम्मेलन में भारत के सबसे खुशहाल शैक्षणिक संस्थानों की घोषणा की। एक कठोर मूल्यांकन अभ्यास के बाद, देश भर के 33 से अधिक विश्वविद्यालयों, कॉलेजों और स्कूलों को पुरस्कृत किया गया। 

यह भी पढ़े : Horoscope 16 May 2022 : आज इन लोगों के जीवन में आएगी तरक्की, लाभ और शुभ समाचार मिलेगा

यह कार्यक्रम पिछले साल दिसंबर में औद्योगिक संस्था एसोचैम के सहयोग से शुरू हुआ था। इन संस्थानों को 'इंस्टीट्यूशंस ऑफ हैप्पीनेस (आईओएच)' के रूप में मान्यता दी गयी। कार्यक्रम की अध्यक्षता केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने की। उन्होंने कार्यक्रम की अध्यक्षता की और प्रमाण पत्र प्रदान किए। 

इस अवसर पर उन्होंने कहा, 'यह महत्वपूर्ण है कि शिक्षक छात्रों की खुशी के स्तर और उनकी भलाई के बारे में जानकारी प्राप्त करें, जो संस्थानों को अपने परिणामों से समग्र रूप से आगे बढ़ाने में सक्षम बनाएगा।' इस अवसर पर, क्यूएस आई-गेज के सीईओ और निदेशक अश्विन फर्नांडीस ने कहा, 'शिक्षा प्रदान करने में गुणवत्ता और उत्कृष्टता का बहुत महत्व है, क्योंकि यह शिक्षार्थियों की क्षमताओं तथा प्रतिभाओं को बढ़ाता है। इससे अविकसित और विकसित राष्ट्रों के बीच खाई पाटने में भी मदद मिलेगी। यह प्रत्येक हितधारक की भागीदारी के बिना संभव नहीं है। हमारी संस्था इस यात्रा में भारतीय संस्थानों को वैश्विक विशेषज्ञता प्रदान करने में सक्रिय रूप से शामिल है।'