मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती (Former Madhya Pradesh Chief Minister Uma Bharti) ने लखीमपुर की घटना (Lakhimpur incident) को लेकर सीधे-सीधे प्रियंका गांधी वाड्रा  (Priyanka Gandhi Vadra) और समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) पर निशाना साधा है।  अयोध्या में उमा भारती ने कहा कि जब न्यायिक जांच हो रही है सेवानिवृत्त मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में तो इसके बाद अब किसी को कुछ कहना नहीं चाहिए। 

दूसरा किसान आंदोलन (Farmers movement) खुद ही सबज्युडिस है। उन्होंने प्रियंका गांधी को मिसेज वाड्रा के नाम से संबोधित करते हुए उन्हें इमरजेंसी और इंदिरा गांधी (Indira Gandh) की हत्या के बाद सिख दंगे से लेकर धर्म के आधार पर भारत पाकिस्तान के बंटवारे (Partition of India and Pakistan) और महात्मा गांधी की कृषि आधारित नीति को जवाहरलाल नेहरू(Jawaharlal Nehru)  द्वारा बदलने तक की याद दिलाई। 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस को कृषि, किसान, लोकतंत्र, संविधान शब्द पर बोलने का अधिकार ही नहीं है।  उमा भारती ने लखीमपुर घटना को सीधे-सीधे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ( Adityanath Yogi)  और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के खिलाफ साजिश बता दिया। 

कहा सबसे ज्यादा ‘intolerance’ का शिकार कोई पार्टी हुई है तो बीजेपी हुई है और सबसे ज्यादा ‘इन्टॉलरेंस’ का शिकार अगर कोई हुआ है तो मोदी और योगी हुए हैं।  उन्होंने कहा कि पूरी कोशिश हो रही है हिंसा हो दंगे हो बेकसूर लोग मारे  जाएं।  उनके खून की नदियां बहने और खून की नदियों में नाव चला कर कांग्रेस पार्टी के जैसे नेता और समाजवादी पार्टी के नेता नाव चला कर सत्ता के सिंहासन तक पहुंचें।