भारत में त्योहारों के सीजन (Festive season) की शुरुआत हो गई है।  ऐसे में एक बार फिर रेलवे स्टेशनों में भारी भीड़ देखने को मिल सकती है।  स्टेशनों पर यात्रियों के साथ साथ उन्हें छोड़ने के लिए दोस्त और रिश्तेदार भी बड़ी संख्या में पहुंचते हैं। कोविड-19 महामारी (Covid-19 epidemic) के बीच स्टेशन पर यात्रियों के अलावा अनावश्यक भीड़ पर लगाम लगाने के लिए भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने मुंबई के बड़े स्टेशनों में प्लेटफ़ॉर्म टिकट के दाम बढ़ाने (Increase platform ticket prices) का ऐलान किया है। 

सेंट्रल रेलवे जोन (The Central Railway Zone) ने मुंबई के कई स्टेशनों पर प्लेटफॉर्म टिकट (Platform ticket price)  के ये दाम बढ़ाने का फैसला किया है।  सेंट्रल रेलवे जोन के बयान के मुताबिक, त्योहार के इस सीजन में इन स्टेशनों पर अनावश्यक भीड़ ना हो इसलिए प्लेटफ़ॉर्म टिकट के दाम बढ़ाने का ये फैसला किया गया है। 

अधिकारियों के मुताबिक इन स्टेशनों में जो प्लेटफ़ॉर्म टिकट अब तक 10 रुपये में मिलता था वो अब 50 रुपये की कीमत (Platform tickets available at a cost of Rs 50) पर मिलेगा।  इन सभी स्टेशनों पर आज सुबह से ये नए रेट लागू हो गए हैं। वहीं मुंबई में वेस्टर्न डिविजन के अधिकार क्षेत्र वाले स्टेशनों में इसको लेकर फैसला लिया जाना बाकी है। 

सेंट्रल रेलवे जोन के एक अधिकारी के मुताबिक, जिन स्टेशनों में प्लेटफ़ॉर्म टिकट के दाम बढ़ें हैं उनमें, छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस, दादर और लोकमान्य तिलक टर्मिनस शामिल है। इसके अलावा मुंबई डिविजन के अंतर्गत आने वाले ठाणे, कल्याण, और पनवेल स्टेशन में भी प्लेटफ़ॉर्म टिकट के दामों में ये बढ़ोत्तरी की गई है। 

रेलवे ने साथ ही ये भी साफ किया है कि, प्लेटफ़ॉर्म टिकट के दामों में बढ़ोत्तरी केवल त्योहार के सीजन के लिए की गई है।  कोविड महामारी के बीच यहां भीड़ ना बढ़े इसलिए ये फैसला किया गया है।  साथ ही रेलवे ने अपने बयान में कहा है कि, त्योहार के सीजन में मुंबई के स्टेशनों में भारी भीड़ की आशंका रहती है, इसलिए इस दौरान प्लेटफ़ॉर्म टिकट के दाम बढ़ाने की ये प्रोसेस लंबे समय से अपनाई जा रही है।