रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (Reserve Bank of India) के गवर्नर शक्तिकांत दास (Shaktikanta Das)  ने IMPS सर्विस को लेकर बड़ा ऐलान किया है।  अब ग्राहक एक दिन में 5 लाख रुपये तक का ट्रांजेक्शन कर पाएंगे।  इससे पहले ये लिमिट 2 लाख रुपये थी।  

आपको बता दें कि भारत में ऑनलाइन बैंकिंग के माध्यम से कहीं भी, कभी भी पैसे भेजे जा सकते हैं, लेकिन पैसे भेजने के तरीके अलग-अलग हैं।  दरअसल, ऑनलाइन बैंकिंग (online banking) से पैसे ट्रांसफर करने के भी तीन तरीके होते हैं, जिनके जरिए एमाउंट ट्रांसफर होता है।  इसमें IMPS, NEFT, RTGS का नाम शामिल है। 

IMPS यानी इमीडियेट मोबाइल पेमेंट सर्विस (Immediate Mobile Payment Service) कहते हैं।   अगर आसान शब्दों में कहें तो आईएमपीएस के जरिए किसी भी खाताधारक को कहीं भी कभी भी पैसे भेज सकते हैं। इसमें पैसे भेजने के वक्त को लेकर कोई पाबंदी नहीं है।  

आप सप्ताह के सातों दिन 24 घंटे में कभी भी IMPS के जरिए कुछ सेकेंड में पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं।  RBI के नए फैसले के बाद ग्राहक IMPS के जरिए 5 लाख रुपये तक का लेन-देन कर सकते है। इससे पहले ये लिमिट 2 लाख रुपये थी।  आपको बता दें कि IMPSसे पैसे ट्रांसफर करने पर कई बैंक कोई फीस नहीं लेते है। 

आरटीजीएस, एनईएफटी या आईएमपीएस जैसी सुविधाओं के लिए इंटरनेट जरूरी है।  आपके पास कंप्यूटर या लैपटॉप न हो तो स्मार्टफोन से भी काम चला सकते हैं जिसमें इंटरनेट की सुविधा हो।  अगर आप mobile banking यूज करते हैं तो जिस बैंक में अकाउंट है उसका बैंकिंग एप्लिकेशन डाउनलोड कर लें।  इसे फंक्शनल बनाने के लिए आपको एम-पिन या मोबाइल पिन जनरेट करना होगा।  इस पिन के सहारे ही आप एप को लॉगिन कर सकते हैं।  एप में फंड ट्रांसफर का एक ऑप्शन होता है। 

यहां आप किसी दूसरे व्यक्ति को पैसा ट्रांसफर कर सकते हैं। लेकिन फंड ट्रांसफर के लिए आपको पेयी (जिसे पैसा भेजना है) की पूरी डीटेल दर्ज करनी होगी।  जैसे उसका अकाउंट नंबर और उस बैंक के ब्रांच का IFSC कोड। ये सब दर्ज करने के बाद आप RTGS आसानी से कर सकते हैं।  इसमें शेड्यूल करने की भी सुविधा मिलती है।  आप यह निर्धारित कर सकते हैं कि आपके अकाउंट से कब पैसा ट्रांसफर होता है।