देश-विदेशों से पर्यटक भारत के सिक्किम राज्य में घूमने आते हैं। सिक्किम का सबसे बड़ा शहर और राजधानी गंगटोक है। यह शिवालिक की पहाड़ियों पर 5500 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा पर्वत कंचनजंगा को भी सिक्किम के गंगटोक से देखा जा सकता है।

आज आपको बताते हैं कि सिक्किम जैसे खूबसूरत राज्य में घूमने लायक क्या-क्या है।

रूमटेक मोन्स्ट्री

रूमटेक मोन्स्ट्री सिक्किम की राजधानी गंगटोक से 24 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह मोन्स्ट्री लगभग तीन सौ वर्ष पुरानी है।इस मठ में बहुमूल्‍य थंगा पेंटिग तथा बौद्ध धर्म के कग्‍यूपा संप्रदाय से संबंधित अनेक वस्‍तुएँ सुरक्षित अवस्‍था में रखी हुई है।

कंचनजंगा राष्ट्रीय उद्यान

सिक्किम में स्थित एक राष्ट्रीय उद्यान और एक बायोस्फीयर रिज़र्व है।इस उद्यान को अपना नाम कंचनजंगा पर्वत से मिलता है जो 8586 मीटर ऊँची है और विश्व का तीसरा सबसे ऊँचा शिखर है। कस्तूरी मृग, हिम तेंदुए और हिमालय थार जैसे वन्यजीव उद्यान में रहते हैं।


मंगन

पूर्वी हिमालय की गोद में बसा मंगन देश के प्रमुख पर्यटक स्थलों में से है। मंगन में बहुत से पर्यटन स्थल हैं जिनमें से एक है शिंगबा रोडोडेंड्रोन सैंक्चुअरी। शिंगबा रोडोडेंड्रोन एक पौधा होता है। इस सैंक्चुअरी में करीब 40प्रकार के रोडोडेंड्रोन हैं।इस सैंचुअरी में कई प्रकार के पहाड़ी जानवर भी देखने को मिल जाएंगे। इसके अलावा मंगन में सिंघिक गांव है, जो मंगन से करीब 12 किमी दूर है। 500 फीट से भी ज़्यादा ऊंचाई पर स्थित इस गांव सेकंचनजंगा के नज़ारे लिए जा सकते हैं।

युमथांग घाटी

सिक्किम के उत्तर में स्थित यूमथांग घाटी है जिसे फूलों की घाटी भी कहा जाता है। यूमथांग घाटी में भारी बर्फबारी के कारण इसे दिसंबर से मार्च तक पर्यटकों के लिए बंद रखा जाता है।


कबी लुंगचोक

सिक्किम की राजधानी गंगटोक से 17 किमी दूर कबी लुंगचोक, ऐतिहासिक पर्यटन स्थलों में से एक है। यूं तो ये पहले ही बहुत आकर्षक जगह है लेकिन जो बात इसे दूसरे पर्यटन स्थलों से अलग बनाती है वो यहां कई प्रजाति के पक्षियों का वास करना है। इसके अलावा यहां बहुत से झरने भी हैं जिनमें से एक है, सेवन-सिस्टर्स वाटर फॉल्स

अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज : https://twitter.com/dailynews360