बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद ने कोरोना की पहली लहर के लॉकडाउन से लोगों के लिए एक मसीहा के रूप में सामने आए थे। उन्होंने बॉलीवुड में अपने नाम कमाने के साथ साथ लोगों के दिलों में एक ऐसी जगह बना ली है जिसे बॉलीवुड का एक शख्स ने भी नहीं बनाई है। दरअसल में सोनू हमेशा दूसरे लोगों की मदद के लिए आगे रहते हैं। हाल ही में सोशल मीडिया पर वायरल एक लड़की जिसके एक 1 पैर नहीं वह रोज एक टांग से उछल उछल कर 1 किलोमीटर दूर स्कूल जाती है।  


यह भी पढ़ें- PCC अध्यक्ष बिरजीत सिन्हा ने की संविधान के मानकों के भीतर 'Tipra Motha' की मांग


सोनू सूद ने बिहार की एक दिव्यांग बेटी की मदद की है। जो एक पैर से 1 किलोमीटर पैदल चलकर स्कूल का सफर तय करती है। दरअसल में, एक हादसे के बाद लड़की का पैर काटना पड़ा था। पैर नहीं है तो क्या हुआ लड़की के हौसले टूटे नहीं है। वो पूरे जज्बे के साथ लंबा रास्ता तय कर स्कूल जाती है। सोनू सूद ने बिहार की बेटी के हौसले को सलाम किया है।
इस लड़की का वीडियो देखने के बाद सोनू सूद उसकी मदद किए बिना नहीं रह सके। सोनू सूद ने तुरंत मदद का ऐलान किया। एक्टर ने ट्वीट में लिखा- अब यह अपने एक नहीं दोनो पैरों पर कूद कर स्कूल जाएगी। टिकट भेज रहा हूं, चलिए दोनो पैरों पर चलने का समय आ गया।
बिहार की बेटी

ये बच्ची बिहार के जमुई की रहने वाली है। जिसका नाम सीमा है और ये टीचर बनना चाहती है। वो एक पैर से एक किलोमीटर पैदल चलकर रोजाना स्कूल जाती है। वो टीचर बनकर अपने आपसपास से लोगों को एजुकेट करना चाहती है। 10 साल की सीमा को 2 साल पहले एक हादसे में पैर गंवाना पड़ा था। सीमा का एक्सीडेंट हो गया था। जिसके बाद उसका एक पैर काटना पड़ा था लेकिन सीमा ने अपने हौसले को टूटने नहीं दिया।
दूसरे बच्चों को स्कूल जाता देख वो भी पढ़ना लिखना चाहती थी। एक पैर नहीं था तो क्या हुआ, सीमा के सपनों के सामने ये दर्द कुछ भी नहीं था। सीमा के पिता मजदूरी करते हैं। सीमा गरीब परिवार से है. सीमा अपने एक पैर से सारे काम करती है। वाकई में सीमा कईयों के लिए इंस्पिरेशन है।

इससे कुछ दिन पहले सोनू सूद ने बिहार के वायरल किड सोनू कुमार की मदद की थी। सोनू कुमार ने बिहार सरकार से स्कूल में एडमिशन की गुहार लगाई थी। अच्छी शिक्षा का हक मांगा था। बच्चे का वीडियो वायरल होने के बाद सोनू सूद ने तुरंत मदद का हाथ आगे बढ़ाया था। उन्होंने बच्चे का प्राइवेट स्कूल में एडमिशन करा दिया था।