सोनम कपूर एक बार फिर चचाओं में हैं। दरअसल सोनम को अपने एक ब्लॉग के कारण लोगों के गुस्से का शिकार होना पड़ा था। सोनम ने एक अंग्रेजी अखबार के लिए कॉलम लिखा था, जिसमें उन्होंने सोशल मीडिया पर होने वाले ट्रोल्स को जवाब दिया था। सोनम ने लिखा था मैं अपने देश से प्यार करती हूं मगर आपमें से कुछ लोगों की तरह मैं कट्टर नहीं हूं, मैं इसलिए एंटी नेशनल बन जाती हूं क्योंकि मैं सवाल पूछती हूं या फिर आलोचना चुनती हूं। राष्ट्रगा सुने, उस लाइन को याद करें जो आपने बचपन में सुना था, हिंदू, मुस्लिम, सिख, इसाई।

सोनम की इस बात पर ट्विटर जमकर उनकी खिंचाई कर रहा है। किसी ने सोनम को हिदायत दे डाली की वह खुद एक बार राष्ट्रगान को दोबारा सुनें। वहीं किसी ने उनसे सवाल पूछा कि सोनम कौन से राष्ट्रगान की बात कर रही हैं। लोगों ने उनके आर्टिकल के साथ पूरा राष्ट्रगा लिख दिया, और उन्हें बताने के लगे कि राष्ट्रगान में हिंदू, मुस्लिम, सिख और ईसाई शब्द तो आते ही नहीं हैं। उधर, अपने ट्वीट को लेकर विवादों में रहने वाले कमाल आर खान ने भी सोनम कपूर को ट्रोल करते हुए एक ट्वीट कर दिया। बता दें कि कुछ दिन पहले फेयरनेस क्रीम बहस पर अभय देओल को जवाब देते हए सोनम ट्विटर पर ट्रोल हुई थीं। फेयरनेस क्रीम बहस मामले में अपनी गलती का अहसास होने पर सोनम ने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया था।

सोनम कपूर के ब्लॉग के कुछ अंश 

सोनम ने कहा कि, मुझे चाहे बिंबो कहें या नाचने वाली, लेकिन ये बात सच है मैं एक बहुत आत्मनिर्भर महिला हूं। मुझे अपनी अच्छी समझ है और आपको मुझे ये बताने की जरूरत नहीं है कि मैं कौन हूं, अगर मेरे पास आत्मसम्मान नहीं होता तो मेरे अंदर हिम्मत नहीं होती वो करने की जो मैं करती हूं, वो पहनने की जो मैं पहनती हूं और वो कहने की जो मैं कहती हूं। हमें अपने काम पर ध्यान देना चाहिए और उसी के लिए खुश होना चाहिए।

ट्रोल्स सेक्सिस्ट और आलोचनात्मक हो सकते हैं, लेकिन मुझे पता है कि मैं स्मार्ट हूं और राय व्यक्त करने में सक्षम हूं। मैं एक सफल महिला हूं, एक नारीवादी, एक ह्यूमनिस्ट, एक राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता हूं और मैं ये गर्व और संतोष की एक महान भावना के साथ कहती हूं। मुझे हर एक दिन एक परी कथा की तरह जीवन जीने के लिए मिलता है।