अपने उम्दा अभिनय से फिल्मों और टीवी की दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बनाने वाले अभिनेता अनुपम श्याम ओझा का रविवार की दरमियानी रात निधन हो गया।  उन्हें एक हफ्ते पहले गंभीर हालत में मुम्बई के गोरेगांव इलाके के लाइफ लाइन अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां देर रात उनकी मौत हो गई।  63 साल के अनुपम श्याम लम्बे समय से किडनी से जुड़ी समस्याओं से ग्रसित थे। 

अस्पताल में मौजूद जाने-माने अभिनेता और अनुपम श्याम ओझा के दोस्त यशपाल शर्मा ने अनुपम श्याम की मौत की खबर की पुष्टि करते हुए कहा, कुछ ही देर पहले अनुपम जी की मौत मल्टीपल ऑर्गन फेल्योर की वजह से हुई है।  वे किडनी की समस्या से लम्बे समय से जूझ रहे थे।  अनुपम श्याम को किडनी की समस्या के चलते एक हफ्ते पहले अस्पताल के आईसीयू वार्ड में गंभीर हालत में भर्ती कराया गया था जहां उनकी हालत लगातार बिगड़ी जा रही थी जो डॉक्टरों के लिए चिंता का विषय बनी हुई थी। 

उल्लेखनीय है कि 2009 में स्टार प्लस पर आने वाले लोकप्रिय सीरियल 'मन की आवाज़ प्रतिज्ञा' में अनुपम श्याम ने ठाकुर सज्जन सिंह की नकारात्मक भूमिका निभाकर खासी लोकप्रियता बटोरी थी।  हाल ही में इस सीरियल का दूसरा सीजन का प्रसारण भी शुरू हुआ था जिसमें एक बार फिर से अनुपम श्याम ठाकुर सज्जन सिंह का रोल निभा रहे थे।  'मन की आवाज प्रतिज्ञा' सीरियल को मिलाकर अब तक उन्होंने तकरीबन 10 से ज्यादा सीरियलों में अलग-अलग भूमिकाएं निभाईं थीं। 

अनुपम श्याम ने शेखर कपूर द्वारा दस्यु सुंदरी फूलन देवी पर बनाई गयी व 1994 में‌ रिलीज हुई चर्चित फिल्म 'बैंडिट क्वीन' के अलावा 8 ऑस्कर अवॉर्ड्स जीतने वाली हॉलीवुड फिल्म 'स्लमडॉग मिलेनियिर' जैसी कई फिल्मों में काम किया था। 

उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में जन्मे और नाटक की दुनिया से अपने अभिनय का सफर शुरू करनेवाले अनुपम श्याम ने 'बैंडिट क्वीन' और 'स्लमडॉग मिलेनियर' के‌ अलावा 'हजारों ख्वाहिशें ऐसी' 'परजानिया', 'लज्जा', 'नायक', 'दुबई रिटर्न्स', 'शक्ति : द पावर' जैसी और भी कई फिल्मों में अभिनय किया और एक्टिंग की दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बनाई थी।