महिमा चौधरी ने डायरेक्‍टर-प्रोड्यूसर राम गोपाल वर्मा पर गंभीर आरोप लगाए हैं। महिमा ने बताया कि ‘सत्‍या’ फिल्‍म में उन्‍हें रिप्‍लेस किया गया और यह बेइज्‍जती करने जैसा था।

महिमा चौधरी ने साल 1997 में शाहरुख खान के अपॉजिट ‘परदेस’ फिल्‍म से बॉलीवुड डेब्‍यू किया था। महिमा की तुलना पहली ही फिल्‍म में माधुरी दीक्ष‍ित से होने लगी। इसके बाद ‘दाग: द फायर’, ‘प्‍यार कोई खेल नहीं’ और ‘धड़कन’ जैसी फिल्‍मों से महिमा ने सुर्ख‍ियां बटोरीं, लेकिन फिर देखते ही देखते वह पर्दे से गायब हो गईं। महिमा चौधरी ने अब एक इंटरव्‍यू में कई गंभीर खुलासे किए हैं। उन्‍होंने यह भी बताया कि कैसे उन्‍हें राम गोपाल वर्मा फिल्‍म से निकाल दिया था।

बॉलीवुड में इससे पहले भी कई सिलेब्रिटीज ने रिप्‍लेस किए जाने के दर्द को बयां किया है। महिमा चौधरी आम तौर पर लाइमलाइट से दूर रहती हैं लेकिन ‘बॉलीवुड बबल’ को दिए इंटरव्‍यू में उन्‍होंने अपनी पर्सनल लाइफ से लेकर करियर के डूबने तक की कहानी शेयर की है। महिमा ने बताया कि ‘सत्‍या’ फिल्‍म से उन्‍हें बिना खबर किए निकाल दिया गया। इस वाकये ने महिमा को अंदर तक तोड़कर रख दिया था।

महिमा ने इंटरव्‍यू में कहा, ‘राम गोपाल वर्मा से मेरी मुलाकात तब हुई थी, जब मैं ‘परदेस’ फिल्‍म की शूटिंग कर रही थी। उन्‍होंने मुझसे ‘सत्‍या’ को लेकर बात की। मुझे फिल्‍म की स्‍क्र‍िप्‍ट बहुत अच्‍छी लगी। हमारी बात आगे बढ़ी तो मैंने तब कई इंटरव्‍यूज और मीडिया के सामने भी फिल्‍म का जिक्र किया। लेकिन बाद में मुझे पता चला कि वर्मा जी ने मुझे रिप्‍लेस कर दिया है।’

महिमा कहती हैं, ‘यह सब बिना मेरी जानकारी के हुआ। ‘सत्‍या’ की टीम से किसी ने भी मुझे संपर्क कर इस बारे में बताना जरूरी नहीं समझा। जबकि ‘परदेस’ के वक्‍त राम गोपाल वर्मा ने ही मुझे फिल्‍म ऑफर की थी। उन्‍होंने न तो मुझे और न ही मेरे मैनेजर को फोन किया।’