महागठ सुकेश चंद्रशेखर से जुड़े 200 करोड़ के मनी लॉड्रिंग केस में जैकलीन के बाद अब बॉलीवुड एक्ट्रेस नोरा फतेही फंसती नजर आ रही हैं। दिल्ली पुलिस ने पहली बार नोरा से 6 घंटों तक पूछताछ कर 50 सवालों की बौछार कर दी। दरअसल नोरा फतेही पर सुकेश से बीएमडब्ल्यू कार सहित महंगें गिफ्ट लेने का आरोप है। इस मामले में दिल्ली पुलिस और ईडी मिलकर जांच कर रही है। सुकेश पर आरोप है कि जेल से बाहर निकालने का झांसा देकर रैनबैक्सी के पूर्व प्रमोटर शिविंदर सिंह और मालविंदर सिंह की पत्नियों से 200 करोड़ से अधिक की ठगी की है।

ये भी पढ़ेंः सुनील ग्रोवर ने इस अंदाज में दिया आशीर्वाद कि विजय सचान ने शेयर किया वीडियो


नोरा ने गिफ्ट में ली थी BMW

पूछताछ में नोरा ने जैकलीन के साथ किसी भी संबंध होने से तो इनकार कर दिया, लेकिन गिफ्ट में बीएमड्ब्लयू कार मिलने की बात को मान लिया। जैकलीन का कहना था कि वे सुकेश की पत्नी से नेल आर्ट फंक्शन में मिलीं थीं। हालांकि नोरा ने दोनों की क्रिमिनल हिस्ट्री के बारे में जानकारी से इनकार कर दिया। सूत्रों के अनुसार ईओडब्ल्यू की संयुक्त पुलिस आयुक्त छात्रा शर्मा के कार्यालय में तकरीबन 6 घंटों तक चले सवाल-जवाब में 6 से ज्यादा पुलिस अधिकारी मौजूद थे। आर्थिक अपराध शाखा के स्पेशल सीपी रविंद्र यादव का कहना है कि सुकेश में जेल में रहकर आपराधिक सिंडिकेट चला रहा था। ऐसे में इस सिंडिकेट के मोहरों को लेकर नोरा फतेही से सवाल पूछे गए, ताकि मामले को और मजबूत बनाया जा सके।

ये भी पढ़ेंः फिल्म ही नहीं अब हवा में भी बॉलीवुड के सुपरस्टार्स को टक्कर देंगे कार्तिक आर्यन, खरीदेंगे प्राइवेट जेट


 

सी फेसिंग बंगले में मिला खजाना

सूत्रों के अनुसार सुकेश जेल में रहकर भी इतनी सफाई से अपना जाल बुनता था कि किसी को भी उसपर शक नहीं हुआ। वह खुद को कभी गृह मंत्रालय तो कभी पीएम ऑफिस जुड़ा अधिकारी बताता था। उसके इस गिरोह में तिहाड़ जेल के कई अधिकारी भी शामिल थे। सुकेश ने इन अधिकारियों को मोटी रकम का लालच देकर अपने जाल में फंसाया था। इस बीच  प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 24 अगस्त को जब चेन्नई में सुकेश के सी फेसिंग बंगले को सीज किया तो उनके भी होश उड़ गए। दरअसल इस बंगले से ईडी को 12 से ज्यादा लग्जरी कारें, 2 किलो सोना और 82 लाख से ज्यादा नगदी मिली थी। वहीं इस मामले में पूछताछ के लिए दिल्ली पुलिस ने जैकलीन को एक बार फिर 12 सितंबर को बुलाया है। वहीं जरूरत होने पर  नोरा फतेही को फिर से पूछताछ के लिए बुलाया जा सकता है।