देश में मां दुर्गा के त्यौहार की तैयारी जोरों से हो रही है। देश के कोने-कोने में पंडाल सज रहे हैं और बड़े से बड़े पंडाल बनाने की तैयारी की जा रही है। मां दुर्गा का सबसे बड़ा पंडाल पश्चिम बंगाल के कोलकाता में बनता है, जहां लाखों की संख्या में लोग आते हैं, मां दुर्गा की आराधना का आनंद लेते हैं और उनकी भक्ति में रम जाते हैं।पश्चिम बंगाल में दुर्गा पूजा बड़े धूम-धाम से मनाई जाती है। वहीं असम में भी मां दुर्गा का ये पर्व बड़े ही उल्लास के साथ मनाया जाता है।

असम के गुवाहाटी के बिश्नुपूर में इस बार दुर्गा पूजा पंडाल को बड़ी ही खूबसूरती से तैयार किया जा रहा है  और इसमें 80 फीट की मां दुर्गा की मूर्ति भी बनाई जा रही है। इस मूर्ति में खास बात ये है कि ये पंडाल इस बार एक खास थीम पर बनाया जा रहा है, जिसके बैकग्राउंड में भारत के मानचित्र को बनाया जा रहा है, जिसे थर्मोकोल की मदद से बनाया गया है। इसे बनाने के लिए पिछले 2 महीने से काम चल रहा है।

साथ ही बता दें, इस बार ये पर्व 14 अक्टूबर से लेकर 19 अक्टूबर तक मनाया जायेगा। अलग अलग राज्य में इसे अलग नामों से जाना जाता है। उत्तर भारत में इसे शारदीय नवरात्र कहा जाता है और पश्चिम बंगाल में इसे दुर्गा पूजा के नाम से जाना जाता है।