रविवार का दिन रवि यानी की भगवान सूर्यदेव को समर्पित है। सूर्यदेव की ऊर्जा से ही यह सारा संसार प्रकाशमान है, इसी तरह से सूर्यदेव की पूजा अर्चना करने से जीवन भी प्रकाशमान हो जाता है। जीवन में सकारात्मक ऊर्जा का आशीर्वाद पाने के लिए सूर्यदेव की पूजा की जाती है। सूर्यदेव की उपासना से यश और आरोग्य की प्राप्ति होती है।

शास्त्रों में सूर्यदेव की उपासना को लेकर कुछ आसान से उपाय बताए गए हैं, जिन्हें अपनाकर हम भगवान सूर्यदेव की कृपा प्राप्त कर सकते हैं। मान्यता है कि अगर पूरे हफ्ते सूर्यदेव को जल अर्पित न कर सकें तो रविवार को सूर्यदेव को जल अवश्य अर्पित करें। तांबे के लोटे में लाल फूल डालकर सूर्यदेव को जल अर्पित करें। जल अर्पित करते समय सूर्य मंत्र का जाप करें। रविवार के दिन घर के सभी सदस्यों को माथे पर चंदन का तिलक लगाना चाहिए।

धार्मिक मान्ताओं के मुताबिक प्रत्येक रविवार सूर्यदेव का व्रत करने से कार्यक्षेत्र में उच्च पद की प्राप्ति होती है। रविवार को व्रत करने से नेत्र व चर्म रोग से मुक्ति मिलती है। रविवार के दिन आदित्य ह्रदय स्त्रोत का पाठ अवश्य करें। रविवार के दिन तेल से बने खाद्य पदार्थ किसी जरूरतमंद को खिलाएं। रविवार को तांबे का बर्तन, पीले या लाल वस्त्र, गेहूं, गुड़, लाल चंदन आदि का दान करें। रविवार सुबह घर से निकलने से पहले गाय को रोटी दें।