हस्तरेखा विज्ञान में सिर और हाथ की रेखाओं के बारे में बताती है। शरीर की बनावट ही इंसान का व्यक्तित्व को बया कर देती है। जिस तहर की पर्सनेल्टी होती है उसी तरह का व्यक्तित्व होता है। इसी तरह से हथेली की बनावट, रेखाएं और उनसे बनने वाले कुछ निशान भविष्य का इशारा करती हैं। रेखा और इनने बनने वाले निशान से लोगों के बारे में कई बातें बयां करती है।


ज्योतिष के मुताबिक किसी व्यक्ति की हथेली में जीवन रेखा सही गोलाई में हो, मस्तिष्क रेखा दो भागों में बंटी हो, हथेली में त्रिकोण बना हो तो ऐसे व्यक्ति को इन तीनों लक्षणों वाले व्यक्ति को धन लाभ होता है। इस तरह की हथेली वाले लोगों को समय-समय पर अचानक धन मिलता रहता है। भाग्यरेखा हथेली के अंतिम स्थान से यानी मणिबंध से शुरू हो रही हो, यह शनि पर्वत तक पंहुच रही हो और भाग्य रेखा पर किसी प्रकार के अशुभ निशान न हो तो व्यक्ति व्यवसाय में सफलता प्राप्त कर सकता है।


बता दें कि अगर किसी व्यक्ति की हथेली भारी और फैली हुई हो, उंगलियां कोमल और नरम हों तो व्यक्ति के धनवान होने का योग बनते हैं। हथेली में शनि पर्वत यानी मध्यमा उंगली के पास से दो या इससे अधिक खड़ी रेखाएं हों तो व्यक्ति को धन और सुख मिलता है। शनि पर्वत अगर उठा हुआ हो, जीवन रेखा सही तरीके से घुमावदार हो तो यह योग शुभ रहता है। ऐसा व्यक्ति जीवन में सभी तरह के सुख हासिल करते हैं और भाग्यवान होते हैं।