कल 6 अक्टूबर 2021 बुधवार को सर्वपितृ अमावस्या (sarvapitr amaavasya) है। इस दिन ज्योतिषशास्त्र मुताबिक 11 साल बाद गजछाया योग ( Gajachhaya Yog ) बना रहा है। माना जाता है कि इस अवसर पर श्राद्ध कर्म करना बहुत ही शुभ होता है।
बताया गया है कि इस योग में पितृ श्राद्ध कर्म करने से पितरों की कृपा से कई तरह के फायदें होते हैं। जैसे
गजछाया योग ( Gajachchhaya Yoga ) में तर्पण, पिंडदान, पंचबलि कर्म, ब्राह्मण भोज, दान दक्षिणा और खीर का दान करने से पितृ प्रसन्न होकर आशीर्वाद देते हैं।

  • 12 वर्षों तक के लिए पितरों की क्षुधा शांत हो जाती है।
  • ऋण या कर्ज से छुटकारा मिलता है।
  • घर में सुख, शांति और समृद्धि बनी रहती है।
  • विधिवत रूप से श्राद्ध करने से वंशवृद्धि होती है।