सावन की हरियाली तीज के बाद अब भद्रोपद की कजरी तीज मनाई जाएगी। यह तीज सुहागिनों के लिए खास मानी जाती है। इस दिन विवाहित महिलाएं द्वारा भगवान शिव और माता पार्वती के साथ चंद्रमा की पूजा की जाती हैं। भदो का महीना देवती देवताओं के लिए बहुत ही खास माना जाता है। बता दें कि कजरी तीज को सतुदी या बड़ी तीज के नाम से भी जानते हैं।


कजरी तीज के दिन सुहागिनें पति की लंबी की कामना के लिए व्रत रखती हैं। कजरी तीज भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की तृतीया तिथि को मनाते हैं। इस साल यह तिथि बुधवार 25 अगस्त 2021 को पड़ रही है। कजरी तीज 2021 शुभ मुहूर्त-

तृतीया तिथि 24 अगस्त को शाम 04 बजकर 04 मिनट पर आरंभ हो जाएगी, जो कि 25 अगस्त की शाम 04 बजकर 18 मिनट तक रहेगी।