आज साल 2022 का पहला सूर्य ग्रहण लग रहा है। भारत में दिखाई नहीं देने के कारण ग्रहण का देश में सूतक काल नहीं माना गया है। भारतीय समय के अनुसार यह ग्रहण रात 12.15 से प्रारंभ होकर सुबह 04.07 पर समाप्त होगा। ज्योतिष के मुताबिक यह ग्रहण मेष राशि और भरणी नक्षत्र में लगेगा। ज्योतिषविद भारत में इस ग्रहण से लोगों को संभलकर रहने की सलाह दे रहे हैं। तीन प्रमुख ग्रहों के दुर्लभ संयोग को इसकी वजह माना जा रहा है।


सूर्य-चन्द्रमा-राहु का संयोग-


ज्योतिषियों का कहना है कि इस ग्रहण में सूर्य, चन्द्रमा और राहु का संयोग बनेगा। इस

संयोग पर शनि की दृष्टि भी होगी। सूर्य, राहु और शनि का प्रभाव होने से दुर्घटनाओं की संभावना बनी रहेगी। मेष राशि में ग्रहण विश्वभर में युद्ध और विस्फोट के संकेत दे रहा है। भारत के पूर्वी हिस्सों की तरफ, चीन, जापान और बांग्लादेश की तरफ ज्यादा समस्याएं हो सकती हैं।


यह भी पढ़ें- गौहाटी हाईकोर्ट ने मौद्रिक राहत प्रदान करने को लेकर कह दी बड़ी बात


ग्रहण के दौरान ना करें ये कार्य


सूर्य ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को बहुत ज्यादा सावधान रहना चाहिए। ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को तेज धार वाले औजार के इस्तेमाल से बचना चाहिए। इस दौरान पूजा-पाठ नहीं करना चाहिए। ग्रहण के दौरान सूर्य की रोशनी में नहीं निकलना चाहिए। नग्न आंखों से ग्रहण नहीं देखना चाहिए। इस दौरान किसी भी यात्रा को टाल देना चाहिए।