आज शारदीय (Shardiya Navratri) का पहला नवरात्रि है। आज के दिन मां धरती पर आएंगी। इनका ने पर घट स्थापना  की जाती है जो नियम और शुभ मुहूरत पर ही की जाती है अगर शुभ मुहूर्त और नियम से नहीं की जाती है तो मां रुष्ठ हो जाती है और घर मंदिर दोनों को भारी नुकसान का सामना करना पड़ता है।
जैसे कि हम जानते हैं कि शक्ति की उपासना का महापर्व शारदीय नवरात्रि है। इस बार साल में चतुर्थी तिथि का क्षय होने के कारण इस बार नौ के बजाय आठ दिन के ही नवरात्र होंगे। मां दुर्गा (Maa Durga) इस बार डोली में सवार होकर आएंगी।
घट स्थापना शुभ मुहूर्त

घटस्थापना के लिए 7 अक्तूबर (गुरुवार) को दो विशेष मुहूर्त हैं।
    
    पहला मुहूर्त  सुबह  6:17  से  7:44  तक
    दूसरा मुहूर्त  सुबह  9:30  से  11:43  तक



इस नवरात्रि बढ़ेगी महिला शक्ति


मान्यता है कि गुरुवार और शुक्रवार को माता की सवारी डोली होती है। मां जगदंबा डोली में सवार होकर आएंगी और डोली में बैठकर ही प्रस्थान करेंगी। नवरात्रि में माता की डोली की सवारी स्त्री शक्ति की मजबूती का प्रतीक है।


नवरात्र की तिथियां

  1. प्रतिपदा           7 अक्तूबर     मां शैलपुत्री
  2. द्वितीया          8 अक्तूबर     मां ब्रह्मचारिणी
  3. तृतीया/चतुर्थी      9 अक्तूबर     मां चंद्रघंटा/मां कूष्मांडा (इस दो माताओं की पूजा की जाएगी।)
  4. पंचमी           10 अक्तूबर     मां स्कंदमाता
  5. षष्ठी            11 अक्तूबर     मां कात्यायनी
  6. सप्तमी          12 अक्तूबर     मां कालरात्रि
  7. अष्टमी          13 अक्तूबर     मां महागौरी (दुर्गा अष्टमी)
  8. नवमी           14 अक्तूबर     मां सिद्धिदात्री (महानवमी)