आज रंभा तीज है। हर साल के ज्येष्ठ महीने के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को रंभा तीज का व्रत रखा जाता है। यह व्रत बहुत ही महत्व रखता है। सुहागिनयां ही इस व्रत को करती है। जानकारी के लिए बता दें कि रंभा तीज को रंभा तृतीया भी कहते हैं। इस दिन महिलाएं भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा करती हैं। इस व्रत को सुहागिन अपने पति की लंबी उम्र के लिए रखती हैं।

शास्त्रों में बताया गया है कि इस दिन माता लक्ष्मी की पूजा करने से विशेष फल की प्राप्ति होती है। कहा जाता है कि माता रंभा ने भी इस व्रत को रखा था। इस दिन माता लक्ष्मी की पूजा करने से दरिद्रता दूर होती है और घर में सुख-समृद्धि का वास होता है। इसके अलावा दान- पुण्य करना चाहिए। रंभा तीज के मुहूर्त की बात करें तो
तृतीया तिथि का आरंभ- 12 जून शनिवार की रात में 08 बजकर 19 मिनट से
तृतीया तिथि समापन- 13 जून, रविवार की रात 09 बजकर 42 मिनट तक रहेगा