आज मंगलवार है और आज का दिन भगवान हनुमान को समर्पित होता है। आज इसलिए भी खास है क्योंकि ज्येष्ठ माह का आगाज और समापन मंगलवार को ही हो रहा है। बताया जाता है कि आज के दिन श्रीराम और हनुमानजी की पहली मुलाकात ज्येष्ठ मास के मंगलवार को ही हुई थी। मान्यता है कि ज्येष्ठ माह के मंगलवार को हनुमान जी की पूजा-अर्चना करने से आरोग्य का वरदान प्राप्त होता है।

इसे बड़ा मंगल या बुढ़वा मंगल भी कहते हैं। इस दिन बजरंग बाण और सुंदरकांड का पाठ करने से हर संकट दूर होते हैं। आज के दिन गुप्त मनोकामना की पूर्ति के लिए कुछ उपाय कर सकते हैं-
- आज सायंकाल बटवृक्ष की जड़ के पास पान के पत्ते पर घागायुक्त मिश्री को रखकर उसपर थोड़ा का गाय का दूध अर्पित करें। फिर एक कपूर की टिकिया जलाकर अपनी मनोकामना का स्मरण करें।
- उत्तम फल प्राप्ति के लिए आज मंगलवार के दिन हनुमान जी की विशेष रूप से पूजा की जाती है। सनातन धर्म में राम भक्त हनुमान जी को संकटों को हरने वाले देवता माना गया है, क्योंकि इनकी पूजा करने से सभी कष्ट दूर हो जाते हैं। इस दिन हनुमान जी की पूजा करने से मनोकामना पूर्ण होती है और उत्तम फल की प्राप्ति होती है।

11वें रुद्रावतार का जन्म

श्रीराम के परम भक्त व 11वें रुद्रावतार का जन्म मंगलवार को माना जाता है। हिंदू धर्म में चिरंजीवी हनुमान जी को अति बलशाली माना गया है। ऐसे में माना जाता है कि मंगलवार को हनुमान जी की पूजा, उपासना, मंत्रा और चालीसा पाठ करने से भक्तों के सभी कष्ट दूर होते हैं।


यह भी पढ़ें- त्रिपुरा में मुख्यमंत्री का परिवर्तन, भाजपा सरकार की नाकामी पर पर्दा डालने की कोशिशः CPI (M) नेता जितेन

मंगलवार का व्रत भगवान हनुमान को प्रसन्न करने के लिए किया जाता है। कोई पारिवारिक समस्या हो या फिर कोई अन्य शारीरिक कष्ट, बजरंगबली की पूजा करने से शांति मिलती है और भक्तों के कष्ट दूर होते हैं। हनुमान जी की पूजा करते समय पवित्रता का विशेष ध्यान रखना अनिवार्य है। जब भी पूजा करें, तब मन और तन से पवित्रता हो।