आज मासिक शिवरात्रि है। शिव भक्तों के लिए मासिक शिवरात्रि का खास दिन माना जाता है। इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा की जाती है। पूजा करने वालों पर भगवान शिव अपनी कृपा बरसाते हैं। भगवान शंकर की कृपा से भक्तों की मनोकामनाएं पूरी होती हैं। इसी तरह से हिंदू पंचांग के अनुसार, हर माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को मासिक शिवरात्रि मनाते हैं।


अभी ज्येष्ठ का महीना चल रहा है। मान्यता है कि भगवान शिव की कृपा से बिगड़े काम बन जाते हैं। बता दें कि भगवान शिव को चतुर्दशी तिथि प्रिय है। शिव पुराण के अनुसार, चतुर्दशी तिथि में व्रत रखने से भगवान शिव शुभ फल देते हैं। मन साफ और इरादे नेक हो तो हर बड़े से बड़े काम पूरे हो जाते हैं। शिव भोले हैं और जो मांगों वो उसी का आशीर्वाद देते हैं लेकिन किसी का बुरा होता है दंड बहुत जल्दी देते हैं।


मासिक शिवरात्रि पूजा करने के लिए सबसे पहले सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि से निवृत्त होने के बाद साफ- स्वच्छ वस्त्र धारण कर लें। घर में ही भोलेनाथ की पूजा- अर्चना करें।

घर के मंदिर में दीप प्रज्वलित करें। अगर घर में शिवलिंग है तो शिवलिंग का गंगा जल, दूध, आदि से अभिषेक करें और साथ ही माता पार्वती की पूजा अर्चना भी करें।

भोलेनाथ का ध्यान करें और

ओम नम: शिवाय मंत्र का जप करें।