इस बार एक साथ रक्षाबंधन पर 4 सबसे शुभ योग बन रहे हैं। इस साल की राखी बहुत ही शुभ होने वाली है। सावण पूर्णिमा का पर्व इ, बार 4 विशिष्ट योगों से परिपूर्ण है। बता दें कि इस बार पूरे 50 वर्ष बाद सर्वार्थसिद्धि, कल्याणक, महामंगल और प्रीति योग एक साथ बनेंगे। ज्योतिष के मुताबिक ये योग वर्ष 1981 में ये चारों योग एक साथ बने थे। इन चारों योगों से श्रावण पूर्णिमा का महात्म्य बढ़ गया है। इस मध्य भाई और बहन के लिए रक्षा बंधन की रस्म विशेष कल्याणकारी होगी।


शुभ मुहूर्त
इस बार सावन पूर्णिमा पर राखी बांधने का मुहुर्त रविवार को सूर्योदय से लेकर शाम 5.33 बजे तक रहेगा। ज्योतिष के मुताबिक पूर्णिमा की तिथि 21 अगस्त को सायं 07:02 बजे आरंभ होगी। उदया तिथि में मिलने के कारण पूर्णिमा का मान 22 अगस्त को होगा। 22 अगस्त को पूर्णिमा तिथि सायंकाल 05:33 बजे तक रहेगी।