हमारे कर्मों के कारण जीवन में कई दोष लग जाते हैं। ये दोष हमारी गलतियों की एक तरह के सजा होती है। जैसे कि हम जानते हैं कि शनिदेव (Shani Dev) न्याय के देवता है। यह इंसान के सभी कार्य विधि, सोच विचार का हिसाब रखते हैं और न्याय करते हैं। इसी तरह अगर आपको शनि दोष (Shani Dosh) लगा है तो वह आपको एक मौका जरूर देते हैं। इस मौके का फायदा उठाते हुए आप शनिवार को ये कार्य जरूर कर लें-.......

हनुमान जी (Hanuman ji) की पूजा-जिनके इष्ट भगवान हनुमान होते हैं या जो हनुमान की पूजा करता है, शनिदेव उसके रक्षक बनकर सदैव उनकी रक्षा करते हैं।पौधारोपण और पीपल-बरगद (Peepal-Banyan) का पूजा-पौधारोपण व पेड़ों का पूजन शनि भगवान को खुश करने के लिए बहुत जरूरी है जो लोग पीपल और बरगद की पूजा करते हैं उनपर शनि अपनी कृपा अक्षुण्ण बनाए रखते हैं।
मछलियों को आहार (fish food)-जो मछली खाते नहीं है बल्कि मछलियों को खाना खिलाते हैं उनसे शनि हमेशा प्रसन्न रहते हैं। इसलिए अगर आपको भी मछलियों को दाना खिलाने की आदत है तो खुशकिस्मत हैं आप, अपनी इस आदत को छूटने ना दें।
ईमानदारी से आजीविका (Honestly Livelihood)-ऐसे लोग जो बिना किसी को नुकसान पहुंचाए, सही और धर्म की राह पर चलकर धन अर्जित करते हैं उन्हें शनि अपार लक्ष्मी का वर देते हैं। जो लोग ब्याजखोरी करते हैं, उनसे शनि रुष्ट हो जाते हैं। ब्याजखोरी से बचने वालों की शनि हमेशा सहायता करते हैं।
शराब एवं अन्य नशे से दूरी बनायें-शराब का सेवन शनिदेव को नाराज करता है जो लोग मदिरापान से दूर रहते हैं शनिदेव की कृपा उनपर बनी रहती है।
शाकाहार की आदत-जो लोग शाकाहार का सेवन करते हैं और मांस, मछली, मीट से दूर रहते हैं उनसे शनिदेव प्रसन्न होकर उनके परिवार समेत उनका भला करते हैं।
सातमुखी रुद्राक्ष धारण करें-सातमुखी रुद्राक्ष धारण करने वालों के शनिदेव भाग्य खोल देते हैं। इसलिए जिन्हें रुद्राक्ष पसंद हो या रुद्राक्ष पहनने की आदत हो, वे शनिदेव से शुभ फल पाते हैं।पितरों का श्राद्ध -
जो लोग अपने पितरों का श्राद्ध करते हैं उनसे प्रसन्न होकर शनिदेव उनके कष्ट दूर करते हैं। इसलिए यह आदत हमेश बरकरार रखें।


(यह आलेख सिर्फ जनरुचि के लिए हैं, यह आलेख इन सब का दावा नहीं करता है। यह लौकिक मान्यता आधारित है।)