आज अक्षय तृतीया का बहुत ही खूबसूरत दिन है। आज के खास मौके पर मां यमुना की डोली यमुनोत्री धाम के लिए रवाना हो गई है। खूबसूरत सी डोली में विराजमान होकर मां की डोली को उनके भाई शनिदेव समेश्वर देवता की डोली भी विदा करने निकली। यमुनोत्री विधायक संजय डोभाल,अजबीन पंवार,पुलिस प्रशासन के साथ ही यमुना के मायकेवासी इस दौरान मौजूद रहे।



डोली के पहुंचते ही आज मंदिर के कपाट खोले दिए गए हैं। वहीं मां गंगा की उत्सव डोली भैंरोघाटी स्थित भैंरो मंदिर में रात्रि विश्राम के बाद मंगलवार सुबह गंगोत्री धाम के लिए प्रस्थान करेगी। यहां आज पूर्वाह्न 11:15 बजे पूरे विधि विधान से गंगोत्री मंदिर के कपाट श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ ग्रीष्मकाल के लिए खोले जाएंगे।


गंगोत्री व यमुनोत्री धाम के कपाट आज विधि-विधान से श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे। हर हर गंगे, जय मां गंगे के जयकारों और आर्मी बैंड की धुन पर शीतकालीन पड़ाव मुखबा (मुखीमठ) से मां गंगा की उत्सव डोली गंगोत्री धाम के लिए रवाना हो गई।


गंगोत्री व यमुनोत्री धाम के कपाट खुलते ही इस बार चारधाम यात्रा का श्रीगणेश होगा। अक्षय तृतीया की तिथि पर गंगोत्री व यमुनोत्री धाम के कपाट खुलेंगे। इस बार चारधाम यात्रा में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद है। चारधामों में ठहरने, स्वास्थ्य, बिजली, पानी की व्यवस्था करना सरकार के लिए  बड़ी चुनौती है।