Basant Panchami के साथ ही ब्रज में होली (Holi 2022) रंगोत्सव की शुरुआत हो गई है। मथुरा-वृंदावन ब्रज मंडल में अब पूरे 40 दिन रंगोत्सव का आयोजन किया जाएगा, जिसमें देश-विदेश से आने वाले भक्त सराबोर होंगे। इस रंगोत्सव की शुरुआत शनिवार को परंपरा के अनुसार ठाकुर श्री बांके बिहारी मंदिर से हुई। 

बसंत पंचमी के पर्व पर श्रंगार आरती के बाद बांके बिहारी मंदिर में ठाकुरजी को बसंती पोशाक धारण कराकर उनके गालों (कपोलो) पर गुलाल लगाते हुए कमर पर गुलाल का फेंटा बाधा गया। इसके बाद सेवायतों ने बसंत पंचमी के दिन श्री बांके बिहारी मंदिर में भक्तों के ऊपर अबीर गुलाल उड़ाया। मंदिर में अबीर गुलाल के साथ भक्ति में लीन श्रद्धालुओं ने भगवान के साथ प्रतीकात्मक रूप से जमकर होली खेली। 

गोत्सव के तहत इस बार 11 मार्च को बरसाना में लट्‌ठमार (Barsana Lathmar Holi) तो 12 मार्च को नंदगांव में लट्‌ठमार होली (Nandgaon Lathmar Holi) खेली जाएगी। जबकि श्रीकृष्ण जन्मभूमि और श्री द्वारिकाधीश मंदिर में 14 मार्च को होली का आयोजन होगा।

हमेशा की तरह भगवान को गुलाल लगाने के बाद मंदिर के सेवायत गोस्वामियों ने चांदी के थालों में लाल, हरा, बसंती, गुलाबी और पीले रंग का गुलाल भक्तों पर डाला। जिसका कण-कण पाने के लिए श्रद्धालु खासे लालायित नजर आए। बांके बिहारी मंदिर में इस दौरान बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं की भीड़ नजर आई। 

भगवान के रंग में रंगने के बाद श्रद्धालुओं ने एक दूसरे पर भी गुलाल लगाकर ब्रज की होली का आनंद लिया। मंदिर के सेवायत मयंक गोस्वामी (बंटू) ने बताया कि बसंत पंचमी पर हमेशा की तरह श्री बांके बिहारी महाराज के कपोलों पर गुलाल लगाकर और फेंटा बांधा गया और अबीर गुलाल उड़ाया गया। उन्होंने बताया कि बसंत पंचमी से ही मंदिर में होली के गायन के साथ ब्रज में 40 दिन का होली उत्सव भी प्रारंभ हो गया है।

कब है होली (Kab Hai Holi)

मंदिर के सेवायत ने बताया कि अब 40 दिन तक ब्रज में अलग-अलग तरह से होली मनाई जाएगी। इस बार जहां 10 मार्च को नंदगांव में फाग आमंत्रण महोत्सव होगा और बरसाना में लड्‌डू होली खेली जाएगी। इसके बाद बरसाना की प्रसिद्ध लट्‌ठमार होली इस बार 11 मार्च को खेली जाएगी। इसके अगले दिन नंदगांव में लट्‌ठमार होली का आयोजन किया जाएगा। हर दिन विभिन्न आयोजन के बाद इस बार 19 मार्च को होली मनाई जाएगी और 23 मार्च को रंग पंचमी पर 40 दिवसीय रंगोत्सव का समापन होगा

ब्रज की होली के प्रमुख कार्यक्रम

- 10 मार्च को फाग आमंत्रण महोत्सव नंदगांव और लड्डू होली बरसाना।

- 11 मार्च को बरसाना की लट्‌ठमार होली।

- 12 मार्च को नंदगांव में लट्‌ठमार होली।

- 14 मार्च को श्रीकृष्ण जन्मभूमि, श्री द्वारिकाधीश और बिहारीजी मंदिर में होली।

- 16 मार्च को गोकुल में छड़ी मार होली।

- 18 मार्च को फालेन में धधकती आग से निकलेगा पंडा।

- 19 मार्च को होली।

- 20 मार्च को नंदगांव, जाब और दाऊजी में हुरंगा।

- 20 मार्च को चरकुला नृत्य मुखराई।

- 21 मार्च को गिडोह तथा बठैन में हुरंगा।

- 23 मार्च : रंग पंचमी फूलडोल मेला खायरा।