माहे रमजान के 29वें रोजा पर बुधवार को ईद के चांद का देर रात दीदार होने की बात कही गई। यानी गुरूवार को ही प्रयागराज में ईद मनाई जाएगी।  सूर्यास्त होते ही रोजेदार अपने परिवार के सदस्यों के साथ घर की छतों व ऊंची इमारतों पर चढ़ गए। कुछ लोग दूरबीन लिए थे। हर कोई आसमान पर घंटों टकटकी लगाए रहा। लेकिन, आसमान में बादल होने के कारण किसी को चांद नहीं दिखा। 

इससे रोजेदारों में थोड़ी मायूसी नजर आयी। खासकर बच्चे चांद को देखने के लिए काफी उत्सुक थे। देर रात चांद का दीदार होने की तस्दीक शहर मुफ्ती ने की यानी अब गुरुवार को ईद मनाई जाएगी। यह ऐलान होने के बाद बुधवार देर रात बहुत से लोग ईद की तैयारी में जुट गए। रात एक बजे के बाद भी चौक में लोग सेवईं समेत अन्य सामान खरीदने के लिए पहुंचे थे।

काजी-ए-शहर मुफ्ती शफीक अहमद शरीफी सहित समस्त उलमाओं ने मुसलमानों से चांद देखने की अपील की थी। चांद की तस्दीक होने पर जारी किए गए नंबरों पर कॉल करना था। उम्मुल मोबनीन सोसायटी के महासचिव सै. मो. अस्करी के मुताबिक देश में कहीं से भी चांद दिखने की सूचना नहीं मिली। उलमाओं ने मुसलमानों से कोविड-19 गाइडलाइन का पालन करते हुए घरों पर ही ईद की नमाज पढऩे की अपील की। 

मस्जिदों में चुनिंदा लोगों को मास्क लगाकर प्रवेश दिया जाएगा। हालांकि इसके बाद देर रात शहर मुफ्ती की ओऱ से ऐलान किया गया कि ईद का चांद देखा गया है। शहर मुफ्ती शफीक अहमद ने तस्दीक कर दी कि गुरूवार को ईद मनाई जाएगी। इसके बाद ईद की मुबारक बाद दी जाने लगी।