अब भाई बहन के रिश्ते को मजबूत करने का बहुत ही खास दिन आने वाला है। यह दिन बहन और भाई के लिए सबसे ज्यादा खास होता है। रक्षबंधन का त्योहार ही भाई बहन के लिए सबसे अच्छा माना जाता है और यह इस साल सावन माह की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि के दिन रक्षाबंधन का पर्व मनाया जाएगा। इस बार रक्षाबंधन का पर्व 11 अगस्त के दिन पड़ रहा है।
इसे श्रावण पूर्णिमा या कजरी पूनम के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन बहने अपने भाइयों के हाथ में कलाई बांध उसकी लंबी आयु की प्रार्थना करते हैं। वहीं, भाई भी बहनों को उनकी रक्षा का वचन देते हैं। रक्षाबंधन का पर्व भाई-बहन के रिश्ते को और गहरा कर देता है।

रक्षाबंधन 2022 तिथि और शुभ मुहूर्त

हिंदू पंचाग के अनुसार सावन मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि 11 अगस्त, बृहस्पतिवार के दिन सुबह 10 बजकर 38 मिनट से शुरु होकर तिथि का समापन 12 अगस्त, शुक्रवार सुबह 7 बजकर 5 मिनट पर होगा. इसलिए रक्षाबंधन का पर्व 11 अगस्त के दिन मनाया जाएगा।



रक्षा बन्धन भद्रा अन्त समय

रक्षा बन्धन भद्रा पूँछ - 05:17 पी एम से 06:18 पी एम
रक्षा बन्धन भद्रा मुख - 06:18 पी एम से 08:00 पी एम

इस बार सुबह 9 बजकर 28 मिनट से ही रक्षाबंधन का शुभ मुहूर्त और रात 9 बजकर 14 मिनट तक आप भाइयों की कलाई पर राखी बांध सकते हैं।