कल है बसंत पंचमी (Basant Panchami 2022) जो विद्या मां सरस्वती को समर्पित होती है। कह जाता है कि इस दिन मां सरस्वती का जन्म हुआ था। 5 फरवरी को मनाया जाएगा। इस दिन लोग पीले कपड़े पहनते हैं, पारिवारिक समारोहों का आनंद लेते हैं। बसंत पंचमी के दिन तरह-तरह के नमकीन और मीठे व्यंजन (traditional recipes) बनाए जाते हैं

बता दें कि पीला रंग ‘बसंती’ रंग के रूप में भी प्रसिद्ध है और ऊर्जा, समृद्धि, आशावाद और प्रकाश का प्रतीक है। इसलिए त्योहार (Festival) से जुड़े कई व्यंजन भी पीले रंग में तैयार किए जाते हैं। आप इस दिन मीठे चावल, मखाना खीर, ढोकला और खांडवी जैसे व्यंजन बना सकते हैं।
मीठे चावल (sweet rice)-

इस डिश को चावल, दालचीनी, पिसी हुई चीनी, केसर, लौंग, इलायची, नारियल और सूखे मेवों से बनाया जाता है। चीनी की चाशनी स्वाद को बढ़ाती है। केसर इसे पीला रंग देता है। बहुत से लोग इस दिन देवी-देवताओं की पूजा के दौरान इन चावल से भोग लगाते हैं।
ढोकला और खांडवी (Dhokla and Khandvi)-

ये बेसन का इस्तेमाल करके तैयार किया जाने वाला एक हल्का नाश्ता व्यंजन है। ये गुजराती व्यंजनों में एक लोकप्रिय नाश्ता है। इसमें बहुत सारी सामग्री की आवश्यकता नहीं होती है। इसे तैयार करना बहुत आसान है। कई लोग बेसन और दही से खांडवी बनाना पसंद करते हैं। इसे नारियल से भी गार्निश कर सकते हैं।
मखाना खीर (Makhana Kheer)-

इस मीठे व्यंजन को दूध और चावल जैसी सामग्री का इस्तेमाल करके बनाया जाता है। इसे बनाने के लिए सूखे मेवे का इस्तेमाल भी किया जाता है। मखाना खीर उन प्रसिद्ध व्यंजनों में से एक है जो लोग अपने घरों में बनाते हैं। आप नारियल की खीर भी बना सकते हैं।
पकोड़ा कढ़ी (Pakora Kadhi)-

कढ़ी बेसन, दही या छाछ और बेसन से बने पकोड़े का इस्तेमाल करके बनाई जाती है। कुछ लोग इसमें स्वाद के लिए लहसुन और प्याज का इस्तेमाल भी करते हैं। कढ़ी पकने के बाद इसमें पकोड़े डाले जाते हैं। इस कढ़ी को जीरा राइस के साथ परोसा जाता है। ये एक प्रसिद्ध व्यंजन है जिसे बसंत पंचमी के उत्सव के दौरान दोपहर के भोजन के लिए परोसा जाता है।
बेसन और बूंदी के लड्डू (Besan and boondi laddoos)-

बसंत पंचमी के मौके पर बेसन या बूंदी के लड्डू घरों में लोकप्रिय रूप से बनाए जाते हैं। ये लड्डू बनाने में आसान है और घर पर किसी भी अवसर या पूजा के लिए एकदम सही हैं।
खिचड़ी (Khichdi)-

सरस्वती पूजा के दौरान खिचड़ी को प्रसिद्ध व्यंजन के रूप में मनाया जाता है। इसे प्रसाद के रूप में परोसा जाता है। ये बंगालियों के पसंदीदा व्यंजनों में से एक है। इसे चावल और दाल से बनाया जाता है। इसे बनाना बहुत आसान है। स्वाद बढ़ाने के लिए आप इसमें कुछ सब्जियां और मसाले भी मिला सकते हैं।