पटना। बिहार के पूर्वी चंपारण जिले (East Champaran district of Bihar) में विराट रामायण मंदिर निर्माण के लिए एक मुस्लिम परिवार ने साम्प्रदायिक सौहार्द का अविस्मरणीय संदेश देते हुए 2.5 करोड़ रुपये मूल्य की भूमि दान में दी है। 

महावीर स्थान ट्रस्ट कमेटी के सचिव किशोर कुणाल ने यहां मीडिया के सामने इश्तियाक अहमद का परिचय देते हुए कहा कि उन्होंने पूर्वी चंपारण जिले के कैथवलिया मुहल्ले में विराट रामायण मंदिर निर्माण के लिए 71 डिसमिल (23 कट्ठा) भूमि नि:शुल्क भेंट कर सांप्रदायिक सौहार्द की दुर्लभ मिसाल कायम की है। 

यह भी पढ़ें- LPG Price Latest: घरेलू एलपीजी सिलेंडर आज से 50 रुपये महंगा

उन्होंने बताया कि 270 फुट ऊंचाई, 1080 फुट लंबाई और 540 फुट चौड़ाई वाला प्रस्तावित विराट रामायण मंदिर बन जाने के बाद दुनिया का सबसे बड़ा हिंदू मंदिर होगा। कुणाल ने कहा कि श्री अहमद ने स्वयं प्रस्तावित विराट रामायण मंदिर के निर्माण के लिए 71 डिसमिल भूमि उपहार में देने की पेशकश की थी। 

यह भी पढ़ें- स्पाइस जेट ने गुवाहाटी से दिल्ली और चेन्नई के लिए दो नई सीधी उड़ानें शुरू की

उन्होंने कहा कि यह बताते हुए उन्हें खुशी हो ही है कि श्री अहमद को भूमि दान करने के लिए राजी नहीं किया गया था बल्कि मंदिर के प्रति समर्पण के साथ उनकी ओर से प्रस्ताव आया था। ट्रस्ट के सचिव ने कहा कि मंदिर निर्माण के लिए कुल 125 एकड़ जमीन की जरूरत है और इसके लिए 100 एकड़ जमीन खरीदी जा चुकी है, शेष 25 एकड़ जमीन भी जल्द ही खरीद ली जाएगी।