फाल्गुन कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को महाशिवरात्रि मनाई जाती है। इस विशेष दिन पर भगवान शिव के साथ माता पार्वती की पूजा की जाती है। इस दिन भगवान शिव का रूद्राभिषेक करने से हर मनोकामना पूरी होती है। महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव की पूजा दूध, चंदन, भस्म, भांग, धतूरा इत्यादि कई वस्तुएं चढ़ाकर की जाती है। इस साल Maha Shivratri 2022 1 मार्च को मनाई जा रही है। महाशिवरात्रि के दिन पूजा करने से घर का वास्तु दोष दूर किया जा सकता है। ऐसे में जानते हैं कि महाशिवरात्रि के दिन कौन-कौन से उपाय करने से वास्तु दोष दूर हो सकता है।

1. महाशिवरात्रि के दिन शिव का अभिषेक करने के बाद जलढ़री का जल घर ले आएं. इसके बाद 'ॐ नमः शम्भवाय च मयोभवाय च नमः शंकराय च'। यह मंत्र को बोलते हुए पूरे घर में इस पवित्र जल का छिड़काव करें। ऐसा करने से घर की नकारात्मक ऊर्जा नष्ट हो जाएगी और घर-परिवार में खुशहाली बनी रहेगी।

2. अगर बराबर घर में आपसी कलह-क्लेश, रोग या अन्य समस्याएं हैं तो उसे दूर करने के लिए घर के उत्तर-पूर्व दिशा में रूद्राभिषेक करना शुभ होता है।

3. अगर घर में किसी प्रकार का वास्तु दोष है, तो उसके निवारण के लिए घर के पूरब या उत्तर-पश्चिम दिशा में बेल का पेड़ लगाएं और उसमें जल चढ़ाएं। साथ ही महाशिवरात्रि के दिन शाम के वक्त इसके नीचे घी का दीया जलाएं। ऐसा करने से घर का वास्तु दोष खत्म होता है।

4. गृह क्लेश को दूर करने के लिए महाशिवरात्रि के दिन घर के उत्तर-पूर्व दिशा में शिवजी के परिवार की तस्वीर लगाएं। भगवान शिव, मां पार्वती, कार्तिकेय और गणेशजी की तस्वीर लगाने से घर में शांति का माहौल कायम रहता है। साथ ही परिवार के सदस्यों का विचार शुद्ध होता है।