शारदीय नवरात्री (Sharadiya Navratri) का पर्व आने वाला हैं। इसमें मां दुर्गा (Maa Durga) के 9 रूपों की पूजा की जाती है। इस बार नवरात्री 9 दिन नहीं पूजा जाएगा केवल 8 दिनों तक की पूजा की जाएगी। 7 अक्टूबर से शुरू होतक 14 अक्टूबर तक की मां की पूजा की जाएगी।

इसके बाद महाअष्टमी (mahashtami) 13 अक्टूबर (बुधवार) को पड़ रही है। ज्योतिषाचार्य के अनुसार, इस साल चतुर्थी तिथि का क्षय होने से शारदीय नवरात्रि (Sharadiya Navratri) आठ दिन के पड़ रहे हैं। ऐसे में 13 अक्टूबर को अष्टमी व्रत रखना उत्तम है। नवरात्रि के आठवें दिन महागौरी की पूजा की जाती है।


पंचांग के अनुसार, इस साल महानवमी (Mahanavami) तिथि 14 अक्टूबर (गुरुवार) को पड़ रही है। नवमी के दिन मां सिद्धिदात्री की पूजा का विधान है।


कन्या पूजा (Kanya Pujan)

अष्टमी-नवमी के दिन कन्या पूजन (Kanya Puja) किया जाता है। कन्या पूजन यानी कुमारी पूजा नवरात्रि और दुर्गा पूजा (Maa Durga) के दौरान  एक महत्वपूर्ण अनुष्ठान है। कुमारी पूजा (Kumari Puja) को कन्या पूजा (Kanya Puja) और कुमारिका पूजा (Kumarika Puja) के नाम से भी जाना जाता है। धार्मिक ग्रंथों में नवरात्रि के सभी नौ दिनों में कुमारी पूजा का सुझाव दिया गया है। नवरात्रि के पहले दिन केवल एक कन्या की पूजा करनी चाहिए और प्रत्येक दिन एक कन्या को जोड़ना चाहिए ।