हनुमान आरोग्य के देवता हैं और जब कोई संकट आता है तो उसे हनुमान जी ही दूर करते हैं। बता दें कि कोरोना बीमारी को लेकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की ओर से देश के मठों, मंदिरों, आश्रमों और हिंदू परिवारों में वैश्विक महामारी कोरोना के समूल विनाश के लिए हनुमान चालीसा पाठ का अभियान चलाया है। परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने भी मठ बाघम्बरी गद्दी में अपने शिष्यों के साथ हनुमान चालीसा का पाठ किया है।

महंत नरेंद्र गिरी ने कहा कि हनुमान आरोग्य के देवता हैं। उन्होंने मठ मंदिरों में रहने वाले साधु, संतों और गृहस्थों से अपील की है कि आप जहां पर भी हैं, वहीं हनुमान चालीसा का पाठ करिए ताकि कोरोना महामारी देश और दुनिया से पूरी तरह से खत्म हो सकें। परिषद अध्यक्ष गिरि ने कहा कि हमारी संस्कृति वसुधैव कुटुंबकम की रही है। इसलिए जब हम कोई प्रार्थना करते हैं तो देश ही नहीं, बल्कि पूरे विश्व के कल्याण की कामना करते हैं।

जानकारी के लिए बता दें कि पूरी मानवता को कोरोना की महामारी से मुक्ति दिलाने के लिए पूरे देश में हनुमान चालीसा का जगह-जगह पाठ हो रहा है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का यह अभियान स्वागत योग्य है। लोगों को इस अभियान से जुड़कर हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए ताकि कोरोना वायरस से लोगों को मुक्ति मिल सके।