घर से निकलने से पहले कुछ बातों का अवश्य ध्यान रखा जाना चाहिए। घर से निकलने से पहले घर में स्थित देवता को 11 अगरबत्ती और शुद्ध घी का दीपक लगाएं। कूंकु, हल्दी, अबीर, गुलाल, चावल और फूल थाली में रखकर आरती करें। भगवान से यात्रा के सकुशल रहने की कामना करें। अंत में काले तिल अपने ऊपर से स्वयं ही 7 बार उतार कर उत्तर दिशा में फेंक दें।
•    घर से निकलने से पहले शुभ चौघडि़या जरूर देखें।

•    मजाक में भी नदी, आग और हवा के बारे अपमानजनक शब्द का प्रयोग ना करें। कहते हैं ईश्वर की इन तीन पवित्र देन से कभी मजाक नहीं करना चाहिए।

•    निकलते समय शुभ शब्द, पवित्र मंत्र और मंगलवचनों का प्रयोग करें। प्रसन्न मन से यात्रा के लिए निकलें। कलह और आंसू से यथासंभव बचें।

•    घर में यात्रा से पहले चावल की छोटी ढेरी पर कलश रखें और सवा रुपया रखकर अगरबत्ती से आरती कर यात्रा के निर्विघ्न होने की प्रार्थना करें। वापस आकर वह रुपया, चावल और पानी शिव मंदिर में चढ़ाएं।

•    घर से निकलने से पहले चिटिंयों को आटा डालें, पंछियों को दाना डालें, काले कुत्ते को रोटी, और गाय को भीगा अनाज खिलाएं।

•    घर के सबसे करीब जो मंदिर हो उसमें नारियल चढ़ाएं। कुछ पैसे दान पेटी के बजाय मंदिर में ही कहीं छुपाकर रखें। यह गुप्त दान माना जाता है, यात्रा के लिए शुभ फलदायी सरल टोटका है।