जादू-टोना के सहारे से लोग दूसरा भला करने के साथ साथ बुरा भी करते हैं। लोग किसी की सफलता देख कर भी बुरा करते हैं। इसलिए आप भी इस तरह की चीजों से परेशान हो तो तंत्रशास्त्रों में इसके बारे में कुछ उपाय बताए गए हैं जिनसे छुटकारा पाया जा सका है। जादू-टोना भारत में प्राचीन काल से चला आ रहा है। बता दें कि तांत्रिक शास्त्र के अनुसार सही विधि के साथ किया गया जादू-टोना कभी खाली नहीं जाता।

बता दें कि कई लोगों पर जादू-टोना करा दिया जाता है लेकिन उनको इस बात की भनक तक नहीं लगती। अगर आपको टोने-टोटके का शक हो तो आप इस मंत्र के जाप करें तो खुद ही काले जादू से निजात पा सकते हैं। तंत्रशास्त्र में ऐसे कई तरीके बताए गए हैं जिससे जादू से छुटकारा पा सकते हैं लेकिन फिर भी “शाबर मंत्रों” के उपयोग को बेहतर बताया गया है।

जादू-टोने से मुक्ति के लिए एक “शाबर मंत्र”

“ॐ नमो आदेश गुरु का,
एक ठौ सरसों सोला राई,
मोरो पठवल कोरो जाय,
जे करै ते मरै, उलट विद्या ताहि पै पड़ै,
शब्द साँचा पिण्ड काँचा,
फुरो मंत्र ईश्वरी वाचा, दुहाई श्री ....... की।।”

विधि-
सोलह दाने राई (लाल सरसों) के और 3, 5 या 7 डालियां नमक की लें। अब जिस दिशा में आप पूजा करते हैं उसी दिशा में मुंह करके राई और नमक को मुट्ठी में बंद करके सात बार ऊपर दिया गया मंत्र पढ़ें। हर बार मंत्र पढ़ने के बाद मुट्ठी पर फूंक मारें। सात बार मंत्र पढ़कर और फूंक मारने के बाद सिर और सीने से सामने की ओर से सात बार घुमाकर जलती आग में डाल दें।