रंगों का त्योहार होली आने वाला है। इस साल होलिका दहन 17 मार्च व रंग वाली होली 18 मार्च को है। होली पर ग्रह-नक्षत्रों की स्थिति से शुभ योग भी बनते हैं। इस साल ग्रहों की स्थिति की बात करें तो गजकेसरी, वरिष्ठ और केदार नाम के तीन राजयोग बन रहे हैं। 

यह भी पढ़े : राशिफल 16 मार्च: आज इन राशि वालों को मिलेगा किस्मत का साथ, ये लोग पास रखें पीली वस्तु


होली पर ग्रहों का ऐसा महासंयोग पहली बार बनने जा रहा है। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, इन शुभ योगों में होलिका दहन करना शुभ रहेगा। इन शुभ योगों से मान-सम्मान, पारिवारिक सुख और समृद्धि बढ़ सकती है।

होलिका दहन पर पहली बार बनने जा रहा ये योग-

होलिका दहन 17 मार्च, गुरुवार को है। गुरुवार का दिन देवगुरु बृहस्पति को समर्पित माना गया है। इस दिन गुरु ग्रह की दृष्टि संबंध चंद्रमा से होने से गजकेसरी योग का निर्माण होगा। इसके साथ ही वरिष्ठ व केदार योग भी बनेंगे। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, होलिका दहन पर ये तीन शुभ योग पहली बार बनने जा रहे हैं। होलिका दहन पर ग्रहों की स्थिति से शत्रुओं पर विजय व रोगों से मुक्ति मिलेगी।

पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र में होलिका दहन-

14 मार्च से वसंत ऋतु शुरू हो गई है। इस ऋतु के स्वामी शुक्रदेव माने गए हैं। शुक्र के आधिपत्य वाल नक्षत्र पूर्वाफाल्गुनी में होलिका दहन होगा। शुक्रदेव को सुख-सुविधा, धन, समृद्धि, हर्ष व ऐश्वर्य का कारक माना जाता है। फाल्गुन मास के स्वामी शनिदेव हैं। शुक्र व शनि के बीच मित्रता का भाव है। ये दोनों ग्रह मकर राशि में युति बनाएंगे। ग्रहों की इस युति का जनमानस के जीवन पर शुभ प्रभाव पड़ेगा।

यह भी पढ़े : Today Panchang 16 March: बुधवार को इन शुभ मुहूर्त में करें गणेश जी की पूजा, शुभ पंचांग से जानें शुभ-अशुभ मुहूर्त


होलिका दहन 2022 मुहूर्त - 09:06 पी एम से 10:16 पी एम

अवधि - 01 घण्टा 10 मिनट्स

रंगवाली होली तिथि 2022-

रंगवाली होली शुक्रवार, मार्च 18, 2022 को

भद्रा पूंछ - 09:06 पी एम से 10:16 पी एम

भद्रा मुख - 10:16 पी एम से 12:13 ए एम, मार्च 18