आज के दिन महायोगी श्रीकृष्ण का जन्म होगा। ज्योतिषों के मुताबिक इस बार दुर्लभ संयोग के बीच श्रीकृष्णा का जन्म हो रहा है। अष्टमी तिथि और रोहिणी नक्षत्र के बीच जयंती योग में कान्हा आज रात 12 बजे जन्म लेंगे। बताया जा रहा है कि इसी योग में कान्हा का जन्म द्वापर युग में हुआ था। ऐसा संयोग 27 वर्ष बाद हो रहा है।


यही नहीं कान्हा के जन्म के वक्त सर्वार्थ सिद्ध योग तो होगा ही, चन्द्रमा भी वृषभ (उच्च) राशि में होंगे। सोमवार को व्रत रखना विशेष पुण्यकारी है। रविवार को रात 11:25 पर अष्टमी तिथि प्रारंभ होगी। ऐसे में सूर्य उदयनी तिथि के अनुसार सोमवार को व्रत रखें। रोहिणी नक्षत्र भी सोमवार को सुबह 6:39 बजे से लगेगा।

एक साथ मनाएंगे स्मार्त एवं वैष्णव जन्माष्टमी
साहित्याचार्य शरद चतुर्वेदी ने बताया कि इस वर्ष दृश्य गणित एवं प्राचीन गणित के पंचांगों के आधार पर स्मार्त एवं वैष्णव एक साथ 30 अगस्त को श्री कृष्ण जन्माष्टमी महोत्सव मनाएंगे। इसके पहले 5 सितंबर 2015 को एक साथ जन्माष्टमी मनाई गई थी।