पटना। हिंदुओं के आराध्य भगवान राम के जन्म के समय जिस तरह त्रेता युग में देवताओं ने आकाश से पुष्पवृष्टि की थी, उसकी झलक इस बार रामनवमी पर महावीर मन्दिर में दिखाई देगी। महावीर मन्दिर न्यास के सचिव आचार्य किशोर कुणाल ने शुक्रवार को यहां बताया कि रविवार को रामनवमी के दिन राम जन्म के समय यानी मध्याह्न 12 बजे महावीर मन्दिर के ऊपर तीन ड्रोन फूलों की वर्षा करेंगे। दोपहर 11.50 से 12.20 तक महावीर मन्दिर में भगवान राम का जन्मोत्सव होता है। इस अवधि में तीन ड्रोन से फूलों की वर्षा होगी। 

यह भी पढ़े : राशिफल : आज इन 5 राशियों पर बरसेगी मां दुर्गा की विशेष कृपा, सूर्य की तरह चमकेगा भाग्य

उन्होंने कहा कि दो वर्षों तक कोरोना संक्रमण के कुप्रभाव से रामनवमी उत्सव नहीं मनाया जा सका था। इस बार कोरोना से रामनवमी उत्सव प्रभावित नहीं होने पर पुष्पवृष्टि का संकल्प लिया गया था। आचार्य कुणाल ने बताया कि दिल्ली की ड्रोन एजेंसी की मदद से यह संकल्प पूरा हो रहा है। एजेंसी तीन ड्रोन की सेवा पुष्पवृष्टि के लिए मुहैया करा रही है। शनिवार को दिल्ली से तीनों ड्रोन पटना आ जाएंगे और उसी दिन पुष्पवृष्टि का ट्रायल भी होगा। 

यह भी पढ़े :PBKS vs GT: राहुल तेवतिया की आंधी में उड़ा पंजाब किंग्स, कप्तान हार्दिक ने कहा- तेवतिया को मेरा सलाम है

महावीर मन्दिर न्यास के सचिव ने बताया कि पहले हेलिकॉप्टर से पुष्पवृष्टि का विचार आया था लेकिन ड्रोन से पुष्पवृष्टि अधिक सुविधाजनक होने के कारण ड्रोन की सेवाएं लेने का निर्णय लिया गया। उन्होंने बताया कि बिहार के इतिहास में पहली बार मन्दिर के किसी आयोजन में पुष्पवृष्टि होगी। आचार्य कुणाल ने कहा कि भारत में अयोध्या के बाद पटना के महावीर मन्दिर में रामनवमी के दिन सबसे अधिक भक्त प्रसाद चढ़ाने और दर्शन के लिए आते हैं। इस बार यह संख्या 3 लाख से 5 लाख तक हो सकती है। उन्होंने कहा कि ऐसे में दो वर्षों के गतिरोध के बाद मन रहे राम जन्मोत्सव पर आकाश से पुष्पवृष्टि से भक्तों का उत्साह बढ़ेगा।