1 मार्च को Maha Shivratri का पर्व पड़ रहा है जो कि देवों के देव महादेव को समर्पित होती है। हिंदू पौराणिक मान्यताओं के अनुसार महाशिवरात्रि के दिन ही भगवान शिव और माता पार्वती का विवाह हुआ था। माना जाता है कि लड़कियां शिवरात्रि का व्रत रहती हैं, उनको योग्य वर मिलता है। लेकिन महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव (Lord shiv) को कुछ चीजों को चढ़ाना वर्जित माना जाता है।


शिव जी को क्यां अर्पित ना करें-1- तुलसी माता लक्ष्मी का रूप है और मां लक्ष्मी भगवान विष्णु की पत्नी हैं। इस कारण से ही तुलसी को शिवजी पर नहीं चढ़ाया जाता है।
2- भगवान शंकर वैरागी हैं और वैरागी होने के कारण से वह अपने माथे पर राख या भस्म लगाते हैं। शिव पुराण में Lord shiv को कुमकुम नहीं लगाने के बारे में उल्लेखित किया गया है।
3-हल्दी को ऐसे तो कई कार्यों के लिए उपयोग में लाया जाता है और भगवान शिव वैरागी हैं और सभी सांसारिक सुखों को त्याग हुए हैं। इसलिए हल्दी को भी भगवान शिव की पूजा में शामिल नहीं किया जाता है। अगर शिव जी को हल्दी लगाते हैं तो इससे इंसान का चंद्रमा कमजोर हो जाता है।
4-मान्यता के अनुसार लाल फूल भगवान गलती से भी लाल फूल नहीं चढ़ाना चाहिए। ऐसे में Maha Shivratri के दिन आप भी गलती से भी शिव जी को लाल फूल ना चढ़ाएं।
5- कहा जाता है कि भोलेनाथ ने असुर शंखचूड़ का वध किया था और उस असुक की शंख प्रतीक माना जाता है। इसी कारण से  Lord Shankar की पूजा में ना तो शंख बजाना वर्जित माना जाता है।
6- आपको बता दें कि भोलेनाथ पर नारियल चढ़ाया जाता है, लेकिन नारियल पानी बिल्कुल नहीं चढ़ाया जाता है। ऐसे में शिवरात्रि पर इस बात का आप खास ध्यान रखें।