मोर बहुत भाग्यशाली माना जाता है। Peacock feathers खूबसूरत होने के साथ यह सकारात्मकता का प्रतीक माना जाता है। यह शरीर से विष को दूर करने के लिए औषधि के रूप में किया जाता था। वास्तु के अनुसार भी मोर पंख घर से कई प्रकार के वास्तु दोषों को दूर करता है और सकारात्मक ऊर्जा को आकर्षित करता है, इसलिए Vastu में मोर पंख बहुत (Peacock feathers Upay) उपयोगी माना गया है।

सुखी दांपत्य जीवन के लिए-

पति-पत्नी के बीच मनमुटाव आज के दौर में एक आम बात हो गई है। वैवाहिक जीवन में किसी न किसी दिन विवाद की स्थिति बनी रहती है। ऐसे में शयन कक्ष में पूर्व या उत्तर दिशा में दीवार पर दो Peacock feathers एक साथ लगाने से दांपत्य जीवन से जुड़ी परेशानियां खत्म होंगी साथ ही रिश्तों में मधुरता आएगी।

परेशानियों को दूर करने के लिए-

काल सर्प दोष सहित राहु-केतु कुंडली में कई प्रकार के दुष्प्रभाव उत्पन्न करता है। इससे जातक को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में माना जाता है कि अगर जातक अपनी कुंडली से इस अशुभ प्रभाव को खत्म करना चाहता है तो शयन कक्ष की पश्चिम दीवार पर Peacock feathers लगाना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि ऐसा करने से घर की नकारात्मकता दूर होने के साथ-साथ ढेर सारे फायदे भी मिलते हैं।
आर्थिक तंगी को दूर करने के लिए-

मान्यता है कि अगर आपको पैसों की समस्या है, तो इसके लिए भी Peacock feathers का उपाय आपकी आर्थिक तंगी को दूर करने में मददगार है। घर की तिजोरी में दक्ष‍िण-पूर्व कोने में मोर पंख को रख दें। इससे आर्थिक समस्या दूर हो जाती है। इसके अलावा रुके हुए धन की भी प्राप्ति होती है। इससे रुके हुए काम भी पूरे हो जाते हैं।
काम में रुकावट दूर करने के लिए

वास्तु शास्त्र के अनुसार अगर आपके काम में लगातार रुकावट आती है और कोई काम समय पर पूरा नहीं होता है तो सामान्य दिनों में अपने घर के पूजा स्थल में पांच मोर पंख रखें और उनकी रोजाना पूजा करें। 21वें दिन इन Peacock feathers को अलमारी में रखें ऐसा माना जाता है कि ऐसा करने से अटके हुए काम भी होने लगेंगे।
किताब रखने के फायदे-

वहीं जिन बच्चों का पढ़ाई में मन नहीं लगता है उनकी मेज पर सात मोर पंख रखने से लाभ होगा। इसके अलावा शुभ फल के लिए किसी किताब या डायरी में Peacock feathers जरूर रखना चाहिए।
(यह आलेख सिर्फ जनरुचि के लिए हैं, यह आलेख इन सब का दावा नहीं करता है। यह

लौकिक मान्यता आधारित है।)