जीवन की कठिनाइयों से गुजर कर जीवनयापन किया जाता है। कई परेशानियां कुदरतन होती है और कई परेशानियां जीवन में इंसान खुद लेकर आता है। एक कहावत तो आपने सुनी ही होगी कि ‘जैसी करनी वैसी भरनी’, मतलब की जैसा करोगे वैसे ही पाओगे। इसलिए अच्छे काम करने चाहिए तो अच्छा ही फल मिलेगा। शनि भगवान, सूर्य पूत्र शनि देव को न्याय का देवता माना जाता है।


जैसे धन की देवी लक्ष्मी होती है वैसे ही दुनिया में न्याय का देव शनि भगवान को माना जाता है। कई बार इंसान ऐसे कार्य करता हैं जिनसे दोष उत्पन्न होता है। ऐसे में हमें कुछ बातों को लेकर सतर्कता बरती जाए तो दोष और परेशानियों से मुक्ति मिल जाती है। आज शनिवार है और आज के दिन व्यक्ति को कुछ कार्य नहीं करने चाहिए, क्योंकि कुछ कार्य करने से न्याय के देवता शनि गुस्सा हो जाते हैं।


जब शनि भगवान गुस्सा होते हैं तो वह सजा भी देते हैं। जिससे जीवन में दुख और परेशानियां बढ़ती हैं। शनिवार शनिदेव को अर्पित होता है तो इस दिन शनिदेव की पूजा की जाती है तो उन्हें काला रंह बहुत ही पसंद होता है तो इस दिन पीपल के वृक्ष पर भी काले तिल चढ़ाने का विधान है। शनिवार के दिन काले तिल कभी नहीं खरीदें। शनिवार के दिन लोहे का सामान, नमक, तेल भी नहीं खरीदें। क्योंकि शनिदेव नाराज हो जाते हैं।