दिपावली के त्योहार बहुत ही धार्मिक और बड़ा होता है। इस त्योहार का सीधा कनेक्शन श्री राम से हैं। यह त्योहार पूरे भारत देश में बड़े ही हर्षोल्लास के साथ बनाया जाता है। पंचांग के अनुसार, कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष के अमावस्या तिथि को दिवाली या दीपावली को मनाया जाता है। इस साल कार्तिक अमावस्या 04 नवंबर, गुरुवार को है।

दिपावली पर मां लक्ष्मी और भगवान गणेश की विशेष पूजा-अर्चना की जाती है। माना जाता है कि दिपावली पर मां लक्ष्मी की विधि पूर्वक पूजा करने से सुख-समृद्धि और यश की प्राप्ति होती है। जीवन में धन की कमी नहीं रहती है। इस बार साल 2021 में दिवाली 04 नवंबर 2021 को पड़ रही है।

पूजा मुहूर्त-

दिवाली पर लक्ष्मी पूजन मुहूर्त शाम 06 बजकर 09 मिनट से रात 08 बजकर 20 मिनट तक है। पूजन अवधि 01 घंटे 55 मिनट की है।

ऐसे करें पूजा
- सर्वप्रथम पूजा का संकल्प लें
- श्रीगणेश, लक्ष्मी, सरस्वती जी के साथ कुबेर का पूजन करें
- ऊं श्रीं श्रीं हूं नम: का 11 बार या एक माला का जाप करें
- एकाक्षी नारियल या 11 कमलगट्टे पूजा स्थल पर रखें
- श्रीयंत्र की पूजा करें और उत्तर दिशा में प्रतिष्ठापित करें, देवी सूक्तम का पाठ करें