ज्योतिष विज्ञान बारिश के जल से ऐसे उपाय बताता है जो आपकी जिंदगी में भी बहार ला सकते हैं। कोई परेशानी हो, दरिद्रता हो, कर्ज में फंसे हैं, दांपत्य में कष्ट हो तो ज्योतिष के तहत वर्षा के जल से खास उपाय किए जा सकते हैं।

- एक तांबें के बर्तन में बारिश का पानी इकट्ठा करें। किसी भी एकादशी तिथि को भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी का इस जल से अभिषेक करें। यह उपाय परिवार में प्रेम बढ़ाएगा, कलह को समाप्त करेगा। व्यापार, नौकरी और कॅरियर संबंधी आपकी परेशानियां दूर होंगी और सफलता मिलेगी, परिवार के सदस्यों के बीच मनमुटाव खत्म होते हैं और सभी का विकास होता है।

- विवाह में अगर बिना वजह देरी हो रही है और किसी न किसी कारण से बनता हुआ रिश्ता बार-बार बिगड़ता है तो इसका भी उपाय है। तांबे के पात्र में सीधे बारिश का पानी इकट्ठा करें। किसी भी बुधवार को इससे गणपति जी का अभिषेक करें। अभिषेक किए जल की कुछ बूंदें पीकर ही भोजन ग्रहण करें। इससे विवाह में आने वाली बाधाएं दूर होती हैं। सुखी दांपत्य जीवन के लिए बारिश का पानी तांबे के बर्तन में भरें और बेडरूम में एक कोने में रख दें। संबंधों में मधुरता आएगी।

- अगर लंबे समय से बीमार हो और दवाइयां भी कोई खास असर न कर रही हों, तो इसमें भी बारिश के पानी का उपाय करें। प्रतिदिन महामृत्युंजय का जाप करते हुए बारिश के पानी की कुछ बूंदें पिलानी चाहिए। इस उपाय से रोगी कुछ ही दिनों में ठीक हो जाता है। व्यक्ति अगर सक्षम है तो खुद भी महामृत्युंजय का जाप करते हुए इस उपाय को कर सकता है।

- कभी-कभी किसी परेशानी में कर्ज लेना ही पड़ जाता है, लेकिन परिस्थितियां ऐसी बनने लगती हैं कि कर्ज उतरता ही नहीं है। बोझ बढ़ता जा रहा है। ऐसे में बारिश के पानी का उपया अपनाएं। इसके लिए बाल्टी में बारिश का पानी जमा कर उसमें दूध डाल दें। उसके बाद भगवान का नाम ले कर इस पानी से स्नान करें। ऐसा करने से मानसून का मौसम जाने के साथ ही सिर से कर्ज भी उतरता जाएगा।