देश के अन्य राज्यों के साथ- साथ उत्तराखंड में भी रोज कोरोना वायरस के हजारों मरीज सामने आ रहे हैं।  साथ ही रोज कई मरीजों की मौत हो रही है।  इससे लोगों के बीच भय का माहौल बन गया है।  वहीं, कोरोना का असर, पर्यटन और तीर्थ स्थानों पर भी पड़ा है। इसी बीच खबर है कि कोविड महामारी को देखते हुए 'चारधाम यात्रा' को अस्थायी रूप से स्थगित कर दिया गया है।  बिना तीर्थयात्रियों के केवल अनुष्ठान किए जा रहे हैं। 

दरअसल, 11 वें ज्योतिर्लिंग बाबा केदारनाथ धाम के कपाट आज यानी 17 मई को सुबह पांच बजे मेष लग्न में विधि विधान से खुल गए।  इस दौरान कोरोना प्रोटोकॉल के तहत तीर्थ पुरोहित, पंडा समाज और हककूधारियों को ही मंदिर में जाने की अनुमति रही।  बाबा केदारनाथ की पूजा अर्चना सुबह 3 बजे से शुरू हो गयी थी। जबकि कोविड नियमों के कारण सीमित लोग ही ऐतिहासिक पल के गवाह बन सके।