रोज सुबह सर्दियों के मौसम में उठना बहुत ही मुश्किल होता है। लेकिन रोज सुबह (morning) जल्दि उठना अच्छा होता है। इससे हमारे काम पर ही नहीं हमारे स्वास्थ्य (health) और मस्तिष्क पर भी बहुत ज्यादा पॉजिटिव प्रभाव पड़ता है। इसी के साथ हम आपको बताएंगे सुबह उठने का सही समय। आपको कभी सुबह अपने आप ही आंख खुल जाती है, मतलब आप जाग जाते हो।

अचानक से जाग जाना एक तरह का संकेत होता है। वैज्ञानिक भी कहता है कि सुबह उठने का सही समय सूर्योदय से पहला का होती है और शास्त्रों मुताबिक सूर्योदय (sunrise) से डेढ़ घंटे पहले के समय को ब्रह्म मुहूर्त (Brahma Muhurta) कहा जाता है। अगर आपकी नींद रोजाना ब्रह्म मुहूर्त में खुल जाती है तो ये काफी शुभ माना जाता है और इसे देवताओं का संकेत माना जाता है।
समय के बीच नींद का खुलना-

सुबह 3 बजे से 4:30 के बीच का समय देवी देवताओं का समय माना गया है।
इसे ही ब्रह्म मुहूर्त (Brahma Muhurta) कहा जाता है।
अगर आपकी रोजाना अपने आप इसी समय पर नींद खुलती है, तो इसका अर्थ है कि दिव्यशक्ति (divine power) चाहती है कि आप इस समय उठें।
ऐसे में आपको कुछ देर उठकर अपने इष्टदेव की आराधना करनी करें तो बेहद शुभ होगा।
इस समय आपकी आराधना सीधे परमेश्वर (God) तक पहुंचती है।
इससे आपके जीवन में कई चमत्कारी परिणाम देखने को मिल सकते हैं।