हरिद्वार कुंभ में डुबकी लगाने की इच्छा रखने वाले पूर्वांचल और बिहार के श्रद्धालुओं के लिए राहत भरी खबर है। पूर्वोत्तर रेलवे (एनईआर) के प्रस्ताव पर बोर्ड ने गोरखपुर के रास्ते छपरा से हरिद्वार के बीच छह जोड़ी कुंभ स्पेशल ट्रेन चलाने की हरी झंडी दे दी है। रेलवे बोर्ड की अनुमति मिलते ही पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है। जल्द ही रूट, ठहराव और समय सारिणी भी जारी हो जाएगी।

25, 26 फरवरी, 9, 10 मार्च और 10, 11 अप्रैल को छपरा से होंगी रवानाजानकारों के अनुसार मुख्य कुंभ स्नान पर्व पर ही स्पेशल ट्रेनें चलाई जाएंगी। इन ट्रेनों में अभी सिर्फ आरक्षित कोच लगाने की ही योजना है। कंफर्म टिकटों पर ही यात्रा की अनुमति होगी। कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन अनिवार्य होगा। माघ पूर्णिमा स्नान पर चलने वाली स्पेशल ट्रेन 25 और 26 फरवरी को छपरा से रवाना होगी। 27 और 28 फरवरी को हरिद्वार से वापसी होगी। 

महाशिवरात्रि स्नान पर चलने वाली स्पेशल ट्रेन छपरा से 9 और 10 मार्च को रवाना होगी। 11 और 12 मार्च को हरिद्वार से वापसी होगी। सोमवती अमावस्या स्नान के लिए चलने वाली स्पेशल ट्रेन 10 और 11 अप्रैल को छपरा से रवाना होगी। 12 और 13 अप्रैल को हरिद्वार से वापसी होगी।

पंजाब में चल रहे किसान आंदोलन के चलते ट्रेनों का निरस्तीकरण जारी है। मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह के अनुसार 24 जनवरी को चलने वाली 05531 सहरसा-अमृतसर तथा 25 जनवरी को चलने वाली 05532 अमृतसर-सहरसा स्पेशल ट्रेनें निरस्त रहेंगी। इसके अलावा कुछ ट्रेनें मार्ग बदलकर चलाई जाएंगी।