पनामा पेपर लीक मामले (Panama Papers leak case ) में प्रवर्तन निदेशालय  (ED) ने अभिनेत्री ऐश्वर्या राय बच्चन ( Aishwarya Rai Bachchan  को समन भेजा है. इसके बाद ऐश्वर्या राय पति अभिषेक बच्चन के साथ दिल्ली स्थित ईडी दफ्तर पहुंचीं.अभिषेक बच्चन भी एक महीने पहले ईडी दफ्तर पहुंचे थे, जहां उनसे पूछताछ की गई थी. बता दें, Panama Papers leak में बच्चन परिवार का नाम सामने आया था. कई हस्तियों के नाम सामने आने के बाद ईडी ने जांच आगे बढ़ाई थी और मनी लॉन्ड्रिंग का केस (Money laundering case) दायर किया था. माना जा रहा है कि इसी सिलसिले में समन जारी किया गया है. कहा जा रहा है कि अमिताभ बच्चन को भी समन भेजा जा सकता है.

यह 10 भारतीय जिनके नाम आए थे सामने

ऐश्वर्या राय बच्चन- अभिनेत्री को उनके भाई और माता-पिता के साथ एमिक पार्टनर्स लिमिटेड के निदेशक के रूप में सूचीबद्ध किया गया था.

अमिताभ बच्चन- अभिनेता को कथिततौर पर ब्रिटिश वर्जीनिया द्वीप समूह में एक कंपनी और बहामास में तीन में निदेशक के रूप में नामित किया गया है.

केपी सिंह- पनामा पेपर्स लीक में डीएलएफ के प्रमोटर का भी नाम आया था.

अजय देवगन- रिपोर्ट्स के मुताबिक, 29 अक्टूबर 2013 को ब्रिटिश वर्जीनिया द्वीप समूह में मैरीलेबोन एंटरटेनमेंट लिमिटेड के मूल शेयरधारक लंदन स्थित हसन एन सयानी थे. देवगन ने कथित तौर पर उसी दिन पूरी शेयरधारिता खरीद ली थी.

विनोद अडानी- ये गौतम अडानी के भाई हैं.

शिशिर कुमार बाजोरिया: पनामा पेपर्स लीक में कोलकाता के इस बिजनेसमैन का नाम आया था.

अनुराग केजरीवाल- ये 2014 में निष्कासित होने तक लोक सत्ता पार्टी की दिल्ली विंग के अध्यक्ष थे.

रविंद्र किशोर सिन्हा- पैराडाइज पेपर्स लीक में भाजपा के पूर्व सांसद रवींद्र किशोर सिन्हा का नाम सामने आया था. रिपोर्ट्स के मुताबिक, सिन्हा 2008 में माल्टा में पंजीकृत एसआईएस एशिया पैसिफिक होल्डिंग्स के अल्पसंख्यक शेयरधारक और निदेशक थे.

नरेश गोयल- जेट एयरवेज के पूर्व अध्यक्ष नरेश गोयल का नाम एचएसबीसी सूची में था, जबकि उनके सहयोगी दुबई के व्यवसायी हसमुख गार्डी पनामा पेपर्स में शामिल थे.

जयंत सिन्हा- पैराडाइज पेपर्स में भाजपा सांसद जयंत सिन्हा का नाम भी है. आईसीआईजे द्वारा की गई जांच में ओमिडयार नेटवर्क के साथ उसके सहयोग में अनियमितताएं सामने आई हैं.