बुधवार का दिन भगवान गणेश को समर्पित होता है। इस दिन विधि- विधान से भगवान गणेश की पूजा- अर्चना की जाती है। भगवान गणेश प्रथम पूजनीय देव हैं। किसी भी शुभ कार्य से पहले भगवान गणेश की पूजा- अर्चना की जाती है। भगवान गणेश की कृपा से सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं। भगवान गणेश की कृपा से आर्थिक समस्यों से भी छुटकारा मिल जाता है और व्यक्ति धनवान बन जाता है।

यह भी पढ़े : इन राशियों पर नहीं होता शनि की साढ़ेसाती या ढैया कोई प्रभाव, इन पर मेहरबान रहते हैं Shani Dev


भगवान गणेश को दूर्वा अर्पित करें

भगवान गणेश को दूर्वा घास अति प्रिय होती है। भगवान गणेश को प्रसन्न करने के लिए उन्हें दूर्वा घास जरूर अर्पित करें। जो भक्त भगवान गणेश को दूर्वा घास अर्पित करता है उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं। आप रोजाना भी भगवान गणेश को दूर्वा अर्पित कर सकते हैं। अगर आपके कार्यों में बार- बार विघ्न आ जाता है तो भगवान गणेश को दूर्वा जरूर अर्पित करें। ऐसा करने से आपके कार्यों के विघ्न दूर हो जाएंगे।

यह भी पढ़े : Shani Jayanti 2022 : 30 मई को मनाई जाएगी शनि जयंती , जानिए पूजा- विधि और शुभ मुहूर्त


भगवान गणेश को सिंदूर लगाएं

भगवान गणेश को प्रसन्न करने के लिए उन्हें सिंदूर भी लगाएं। सिंदूर लगाने से गणपित भगवान प्रसन्न होते हैं। भगवान गणेश को सिंदूर लगाने के बाद अपने माथे में भी सिंदूर लगा लें। भगवान गणेश को सिंदूर लगाने से आरोग्य की प्राप्ति होती है। आप रोजाना भी भगवान गणेश को सिंदूर लगा सकते हैं।

भगवान गणेश को भोग लगाएं

भगवान गणेश को लड्डू और मोदक काफी पसंद होते हैं। संकष्टी चतुर्थी के दिन भगवान गणेश को लड्डूओं और मोदक का भोग जरूर लगाएं। भगवान को भोग लगाने के बाद प्रसाद के रूप में लड्डओं और मोदक का सेवन कर लें।