ग्रहों की चाल राशियों को प्रभावित करती है और राशियां जातकों को प्रभावित करती है। राशियों का सीधा कनेक्शन ग्रहों से होता है और ग्रहों का थोड़ा सा परिवर्तन राशियों के जातकों के जीवन में बदलाव लाता है। अभी ग्रहों की बात करें तो शुक्र ग्रह शनिदेव की राशि कुंभ में स्थान ग्रहण करने वाले हैं।

 शुक्र ग्रह को धन-वैभव, सौन्दर्य, ऐश्वर्य और सुख-समृद्धि का कारक माना गया है। इसके कुंभ राशि में स्थान ग्रहण करने से कुछ राशियों के जीवन में बदलाव की संभावना है।


मेष राशि


Aries राशि से संबंधित जातकों के लिए लाभकारी रहने वाला है। दरअसल शुक्र का गोचर इस राशि के 11वें भाव में होगा। 11वां भाव आय का माना जाता है। ऐसे में गोचर की अवधि में आमदनी बढ़ेगी। बिजनेस में आय के नए स्रोत बनेंगे। इसके अलावा साझेदारी के काम में सफलता मिलेगी। लाइफ पार्टनर का साथ मिलेगा।

यह भी पढ़ें- जहर से बर्बाद होगा पूरा यूक्रेन, रूसी सैनिकों ने कर दिया ऐसा कांड, घूट घूट कर लोगों की होगी मौत


कुंभ राशि

Aquarius राशि के लिए शुक्र का गोचर बेहद फायदेमंद साबित होने वाला है। धन के कारक शुक्र का गोचर इस राशि में ही होने वाला है। ऐसे में गोचर के दौरान भाग्य का पूरा साथ मिलेगा। कर्यस्थल पर अधिकारियों से तारीफ मिलेगी। व्यापार में आर्थिक प्रगति की प्रबल संभावना है। कुंभ राशि के स्वामी ग्रह शनि है। शनि और शुक्र के बीच मित्रता का भाव रहता है।
 
मकर राशि

Capricorn राशि के लिए शुक्र गोचर दूसरे भाव में होगा। ज्योतिष में दूसरा भाव धन और वाणी का कहा गया है। ऐसे में शुक्र के रशि परिवर्तन से अचानक धन लाभ हो सकता है। नौकरी में सैलरी में बढ़ोतरी हो सकती है। मकर राशि के स्वमी भी शनि देव हैं। शुक्र और शनि के बीच मित्रताका भाव रहता है। इसलिए गोचर के दौरान विशेष लाभ मिलने की प्रबल संभावना है।