हर घर में आईना होता ही है, जिसे हम दर्पण भी कहते हैं. इसका हर व्यक्ति के जीवन में महत्वपूर्ण स्थान है. घर हो या बाहर आईने की आवश्यकता तो सभी को पड़ती है. हर घर के किसी कोने में आईना जरूर होता है. चेहरे को निहारने से लेकर साज-श्रृंगार तक के लिए प्रयोग में लाए जाने वाले इस दर्पण का संबंध आपके सौभाग्य से भी होता है. घर में दर्पण यदि सही दिशा में लगा हो तो व्यक्ति को उसके सकारात्मक फल प्राप्त होते हैं, जबकि गलत दिशा में लगा दर्पण घर में रहने वालों पर तमाम तरह की परेशानियां लेकर आता है. 

यह भी पढ़े : Aaj ka rashifal 25 अप्रैल: इन राशि वालों की आर्थिक स्थिति में आएगा सुधार , कन्या राशि वालों के लिए आज दिन अच्छा 


आईना सही दिशा में लगाना जरूरी

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में लगाए जाने वाले आईने से भी एक प्रकार की ऊर्जा का संचार होता है. ऐसे में अपने घर में आईना लगवाते समय उसकी दिशा का विशेष ख्याल रखें. घर में आईने की सही दिशा क्या हो, कैसे आकार के दर्पण वास्तु सम्मत होते हैं, इन सब चीजों की चर्चा वास्तु ग्रंथों में है. आइये आपको बताते हैं आइने से संबंधित कुछ और बातें जिसे ध्यान में रखने से आपके घर में सुख-समृद्धि बढ़ सकती है.

..तो आने लगेगी नेगेटिव एनर्जी

घर की दक्षिण और दक्षिण-पश्चिम (नैऋत्य)  दिशा में आईना नहीं लगाना चाहिए. चूंकि आईना पानी का स्रोत है, इसलिए इसे सही दिशा में लगाना जरूरी होता है. दक्षिण या पश्चिम की दीवारों पर लगा आईना उल्टी दिशाओं से आ रही ऊर्जा को रिफ्लेक्ट कर देता है.

यह भी पढ़े : बुध देव राशि परिवर्तन 25 अप्रैल को , मेष से लेकर मीन राशि तक के जीवन में होंगे बड़े बदलाव, जानिए किसको होगा फायदा-नुकसान


रंग-बिरंगे आईने से अभी बना लें दूरी

रंग-बिरंगे आईने घर में कदापि न लगाएं, इसका बुरा प्रभाव होता है, साथ ही अपने बेडरूम में भी दर्पण नहीं लगाना चाहिए. पानी का स्रोत होने से दर्पण समृद्धि भी देता है. लेकिन यह तभी प्रभावी होगा जब इसकी दिशा भी सही हो. दक्षिण की दिशा में घर की दीवार पर दर्पण नहीं लगाएं. इससे आर्थिक हानि होती है क्योंकि यह दिशा यम की होती है. कारोबार में उन्नति के लिये कई लोग दक्षिण दिशा में आईना लगाते हैं, लेकिन वास्तु शास्त्र के अनुसार ये ठीक नहीं है.

घर की इस दिशा में लगाएं आईना

ईशान कोण में जल का स्थान होता है. ईशान यानी पूर्व एवं उत्तर के मध्य का स्थान. यहां दर्पण लगा सकते हैं. घर के पूर्व या उत्तर में लगे दर्पण शुभ होते हैं. साथ ही 6 बाई 6 का आईना अति शुभ रहता है. दर्पण को पूर्व या उत्तर की दीवार पर इस तरह लगाना चाहिए कि देखने वाले का चेहरा पूर्व या उत्तर की ओर रहे.

इन बातों का भी रखें ख्याल

डाइनिंग टेबल के सामने आईना लगाएं इससे समृद्धि प्राप्त होती है. 

ड्राइंग रूम में उत्तर की दीवार पर आईना लगाएं. 

शीशे को स्क्वॉयर या गोलाकार लगा सकते हैं. लेकिन अटपटे डिजाइन से परहेज करें. 

तिजोरी के अंदर आईना लगाएं, इससे आपके धन में वृद्धि होगी. 

उत्तर दिशा को धन के देवता कुबेर की दिशा माना जाता है और दक्षिण दिशा में दर्पण लगाने से उत्तर से आने वाला प्रतिबिम्ब आईने में दिखाई देगा, जो कि ठीक नहीं है. 

यह भी पढ़े : Aaj ka rashifal 25 अप्रैल: इन राशि वालों की आर्थिक स्थिति में आएगा सुधार , कन्या राशि वालों के लिए आज दिन अच्छा 

घर में कभी भी बहुत भारी, नुकीला या जिसका किनारा टूटा फूटा हो, ऐसा आईना या शीशा नहीं लगाना चाहिए. साथ ही तिकोना, यानी तीन कोनों वाला शीशा भी नहीं लगाना चाहिए. इससे नेगेटिविटी बढ़ती है.