कल 7 अक्टूबर गुरूवार से शारदीय नवरात्रि (Shardiya Navratri 2021) आरंभ हो रहे हैं। इन नवरात्रि के 9 दिनों तक मां दुर्गा (Maa Durga) की पूजा की जाएगी। ध्यान दें कि इस साल नवरात्रि 9 दिन की नहीं बल्कि 8 दिन के ही होंगे। इस बार दो तिथियां एक साथ पड़ रही है।
नवरात्रि के 9 दिनों में मां के 9 रूपों की पूजा- अर्चना की जाती है। मां को प्रसन्न करने के लिए भक्त व्रत भी रखते हैं। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार नवरात्रि के दौरान विधि- विधान से मां दुर्गा (Maa Durga) की पूजा करने से सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं।
Maa Durga पूजा-विधि

  •   सुबह उठकर जल्गी स्नान कर लें, फिर पूजा के स्थान पर गंगाजल डालकर उसकी शुद्धि कर लें।
  •    मां दुर्गा का गंगा जल से अभिषेक करें।    
  •    घर के मंदिर में दीप प्रज्वलित करें।
  •    मां को अक्षत, सिन्दूर और लाल पुष्प अर्पित करें, प्रसाद के रूप में फल और मिठाई चढ़ाएं।
  •    धूप और दीपक जलाकर दुर्गा चालीसा का पाठ करें और फिर मां की आरती करें।
  •     मां को भोग भी लगाएं।
  •     ध्यान रखें कि भगवान को सिर्फ सात्विक चीजों का भोग लगाया जाता है

पूजा सामग्री की पूरी लिस्ट
   
लाल चुनरी, लाल वस्त्र, मौली, श्रृंगार का सामान, दीपक, घी/ तेल, धूप, नारियल, साफ चावल, कुमकुम, फूल, देवी की प्रतिमा या फोटो, पान, सुपारी, लौंग, इलायची, बताशे या मिसरी, कपूर, फल-मिठाई, कलावा आदी। ध्यान रहे कि माता मूर्ति खंडित ना हो।


नवरात्रि कैलेंडर-

(पहला दिन) - 7 अक्टूबर-  मां शैलपुत्री की पूजा की जाती है
(दूसरा दिन) -8 अक्टूबर -मां ब्रह्मचारिणी पूजा की जाती है
(तीसरा दिन) -9 अक्टूबर - मां चंद्रघंटा व मां कुष्मांडा की पूजा
(चौथा दिन)-10 अक्टूबर- मां स्कंदमाता की पूजा
(पांचवा दिन)-11 अक्टूबर- मां कात्यायनी की पूजा
(छठां दिन)- 12 अक्टूबर- मां कालरात्रि की पूजा
(सातवां दिन) -13 अक्टूबर-मां महागौरी पूजा
(आठवां दिन) -14 अक्टूबर- मां सिद्धिदात्री की पूजा
(नौंवा दिन) -15 अक्टूबर-दशमी नवरात्रि पारण/दुर्गा विसर्जन