रक्षाबंधन का पावन पर्व आज मनाया जा रहा है। इस पावन दिन बहन भाई को राखी बांधती है और भाई बहन को उपहार देते हैं। ज्योतिष के मुताबित शुभ मुहूर्त में राखी बांधन का बहुत अधिक महत्व होता है। बता दें कि भद्रा के समय राखी नहीं बांधनी चाहिए। राखी के दिन भद्रा का खासा ध्यान रखा जाता है।
•    इस साल रक्षाबंधन पर धनिष्ठा नक्षत्र के साथ शोभन योग का शुभ संयोग बन रहा है। शोभन योग से शुभता में वृद्धि होगी। बताया कि इस दिन पूर्णिमा तिथि का मान शाम 5:31 बजे तक एवं धनिष्ठा नक्षत्र रात्रि 7:38 बजे तक है। चंद्रमा कुंभ राशि में होंगे।
शुभ समय

•    22 अगस्त को सुबह 6:15 बजे से शाम 5:31 बजे के बीच कभी भी राखी बांधी जा सकती है।
राखी बांधते समय ये मंत्र पढ़ें



ॐ येन बद्धो बली राजा दानवेन्द्रो महाबल:।
तेन त्वामभि बध्नामि रक्षे मा चल मा चल।